‘धींग एक्सप्रेस’ हिमा दास

लोग | खेल

‘धींग एक्सप्रेस’ हिमा दास के पांच स्वर्ण पदक

‘धींग एक्सप्रेस’ कही जाने वाली भारतीय धावक हिमा दास ने जुलाई महीने के बीस दिनों में पांच अलग-अलग प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक जीते हैं

ब्यूरो | 22 जुलाई 2019

1

पोज़्नान एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स, पोलैंड – 200 मीटर

हिमा दास ने इस महीने दो जुलाई को अपना पहला स्वर्ण पदक पोलैंड में हुई पोज़्नान एथेलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में जीता था. इस साल यह उनकी पहली 200 मीटर रेस थी जिसे उन्होने 23.65 सेकंड्स में पूरा किया और यह उनका पहला अंतर्राष्ट्रीय पदक था. इस रेस हिमा के अलावा दो और भारतीय धावकों ने बढ़िया प्रदर्शन किया था. 23.75 सेकंड्स के साथ वीके विस्मया तीसरे स्थान पर और 24.50 सेकंड्स के साथ सोनिया बैश्य छठे स्थान पर रहीं थीं. हिमा दास पर लौटें तो 200 मीटर रेस में उनका पर्सनल बेस्ट 23.10 सेकंड्स है जो उन्होंने पिछले साल बनाया था.

2

कुट्नो एथलेटिक्स मीट, पोलैंड – 200 मीटर

दूसरा स्वर्ण पदक हिमा दास ने सात जुलाई को पोलैंड में ही आयोजित कुट्नो एथलेटिक्स मीट में जीता. इस पदक के लिए उन्होंने 200 मीटर की दूरी 23.97 सेकंड्स में पूरी की थी. इस रेस में रजत पदक भी भारतीय धावक वीके विस्मया ने जीता था और उन्होंने यह दूरी 24.06 सेकंड में तय की थी.

3

क्लाड्नो एथलेटिक्स मीट, चेक गणराज्य – 200 मीटर

अपना तीसरा अंतर्राष्ट्रीय पदक हिमा दास ने चेक गणराज्य में आयोजित क्लाड्नो मेमोरियल एथलेटिक्स मीट में 13 जुलाई को जीता था. यह रेस उन्होंने 23.43 सेकंड में पूरी की थी.

4

टेबर एथलेटिक्स मीट, चेक गणराज्य – 200 मीटर

हिमा दास ने चौथा स्वर्ण पदक 17 जुलाई को चेक गणराज्य के टेबर एथलेटिक्स मीट में जीता था. इस बार उन्होंने 200 मीटर की दूरी 23.25 सेकंड्स में तय की थी.

5

नोव मेस्तो नद मेतुई ग्रैंड प्रिक्स, चेक गणराज्य – 400 मीटर

हिमा दास का पांचवां पदक 20 जुलाई को चेक गणराज्य में ही आयोजित नोव मेस्तो नद मेतुई ग्रैंड प्रिक्स में आया. यह रेस 400 मीटर की थी जिसे दास ने 52.09 सेकंड में पूरा किया. उनकी यह टाइमिंग इस प्रतियोगिता की सबसे बेहतरीन टाइमिंग थी. इस वर्ग में उनका पिछला रिकॉर्ड 52.88 सेकंड का था. 400 मीटर में उनका पर्सनल बेस्ट रिकॉर्ड 50.79 सेकंड्स का है जो उन्होंने बीते साल एशियन गेम्स में बनाया था.

  • ममता बनर्जी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    पश्चिम बंगाल में चुनाव कराने के तरीके को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना करना कितना जायज़ है?

    ब्यूरो | 05 मार्च 2021

    किसान आंदोलन

    विचार-रिपोर्ट | किसान

    क्या किसान आंदोलन कमजोर होता जा रहा है?

    ब्यूरो | 03 मार्च 2021

    नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021