जावेद अख्तर

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

17 जनवरी को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद | जावेद अख्तर | कर्नल जेके बजाज | एमजी रामचंद्रन | असीरगढ़ का किला

ब्यूरो | 17 जनवरी 2019

1

17 जनवरी, 1946 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की पहली बैठक लंदन स्थित चर्च हाउस में आयोजित की गई थी. यूएनएससी संयुक्त राष्ट्र के छह प्रमुख अंगों में से एक है और वैश्विक शांति और सुरक्षा जैसे अंतरराष्ट्रीय मामलों को देखता है.

2

17 जनवरी, 1945 को हिन्दी फिल्मों के गीतकार एवं पटकथा लेखक जावेद अख्तर का जन्म हुआ था. कई सुपरहिट गीत और ब्लॉकबस्टर फिल्में लिखने  के साथ उन्होंने अलग-अलग तरह का साहित्य भी रचा. पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित अख्तर 2010 से 2016 तक राज्यसभा के मनोनीत सांसद भी रहे.

3

17 जनवरी, 1989 को कर्नल जेके बजाज दक्षिण ध्रुव पर पहुंचने वाले पहले भारतीय और एशियाई बने थे. पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर बजाज ने अंटार्कटिक रूट पर 50 दिनों में करीब 1200 किमी की यात्रा की थी. इस दौरान उनकी टीम में कुल 11 लोग थे.

4

17 जनवरी, 1917 को अभिनेता तथा राजनेता एमजी रामचंन्द्रन का जन्म हुआ था. एमजीआर के नाम से मशहूर रामाचंद्रन दो बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे. उन्होंने राजनीतिक दल एआईडीएमके की स्थापना की थी जिसे बाद में मशहूर अभिनेत्री और राजनेता  जयललिता ने संभाला.

5

17 जनवरी, 1601 को मुगल बादशाह अकबर ने असीरगढ़ के अभेद किले में प्रवेश किया था. यह किला बुरहानपुर, मध्य प्रदेश में सतपुड़ा की पहाड़ियो के बीच बनाया गया था जिसे अकबर से पहले कोई भी नहीं जीत पाया था.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021