नवीन पटनायक

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

26 दिसंबर को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

भारत में सुनामी | बीजिंग-ग्वांग्झू रेलमार्ग | भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी | इंदिरा गांधी | बीजू जनता दल

ब्यूरो | 26 दिसंबर 2018 | फोटो: नवीन पटनायक-ट्विटर

1

26 दिसंबर, 2004 को शक्तिशाली भूकंप के बाद भारत, श्रीलंका, इंडोनेशिया, थाइलैंड, मलेशिया, मालदीव और आसपास के क्षेत्रों में सुनामी ने भारी तबाही मचाई थी. रिक्टर स्केल पर 8.9 तीव्रता वाले इस भूकंप का केंद्र इंडोनेशिया के उत्तरी हिस्से असेह में था. इस त्रासदी में दो लाख तीस हजार लोगों की मौत हो गई थी.

2

26 दिसंबर, 2012 को चीन की राजधानी बीजिंग से देश के एक अन्य प्रमुख शहर ग्वांग्झू तक बनाए गए दुनिया के सबसे लंबे हाई स्पीड रेलमार्ग की शुरुआत हुई थी. इस रास्ते से 2230 किलोमीटर की दूरी तय की जा सकती है. सितंबर 2018 में इसके क्रॉस-बॉर्डर सेक्शन, शेनजेन से हांगकांग रूट, की शुरूआत होने के साथ यह प्रोजेक्ट खत्म हुआ.

3

26 दिसंबर, 1925 को एमएन राय ने कानपुर में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना की. साल 1942 में जर्मनी की नाजी सेना के खिलाफ ब्रिटेन और सोवियत यूनियन के साथ आने के बाद इसे कानूनी मान्यता दी गई.

4

26 दिसंबर, 1978 को भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को जेल से रिहा किया गया. मोरारजी देसाई की सरकार ने 19 दिसंबर को इंदिरा गांधी को गिरफ्तार किया था.

5

26 दिसंबर 1997 को ओडिशा के प्रमुख नेता बीजू पटनायक के पुत्र नवीन पटनायक ने बीजू जनता दल (बीजद) की स्थापना की. नवीन पटनायक चार विधानसभा चुनाव जीतकर बीते 18 सालों से राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभाल रहे हैं.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 1 घंटा पहले

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021