भगत सिंह, सुखदेव. राजगुरू

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव के शहीद होने सहित 23 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

शहीद दिवस | बसंती देवी | राम मनोहर लोहिया | पाकिस्तान | ताइवान

ब्यूरो | 23 मार्च 2019 | फोटो: विकीमीडिया कॉमन्स

1

23 मार्च, 1931 को भगत सिंह और उनके साथी राजगुरु व सुखदेव को लाहौर जेल में फांसी दी गई थी. अंग्रेजी सरकार द्वारा इन क्रांतिकारियों को यह सजा सान्डर्स की हत्या और सेंट्रल असेंबली में बम फेंकने के लिए दी गई थी.

2

23 मार्च, 1880 को भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता बसंती देवी का जन्म हुआ था. सविनय अवज्ञा आंदोलन के सबसे सक्रिय कार्यकर्ताओं में से एक बसंती देवी स्वतंत्रता सेनानी देशबंधु चितरंजन दास की पत्नी थीं.

3

23 मार्च, 1910 को स्वतंत्रता सेनानी, प्रखर चिंतक और समाजवादी राजनेता डॉ राममनोहर लोहिया का जन्म हुआ था. देश में गैर-कांग्रेसवाद की शुरूआत करने के साथ लोहिया समाजवादी आंदोलन के अगुआ भी बने.

4

23 मार्च, 1956 को पाकिस्तान दुनिया का पहला इस्लामिक गणतंत्र देश बना था. 20 करोड़ की आबादी के साथ यह दुनिया छठा सबसे अधिक आबादी वाला देश है जिसमें करीब 95 फीसदी लोग इस्लाम धर्म को मानते हैं.

5

23 मार्च, 1996 को ताइवान में पहला प्रत्यक्ष राष्ट्रपति चुनाव हुआ, जिसमें ली तेंग हुई राष्ट्रपति बने.

  • निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 4 घंटे पहले

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 15 घंटे पहले

    भारतीय पुलिस

    आंकड़न | पुलिस

    पुलिस हिरासत में होने वाली 63 फीसदी मौतें 24 घंटे के भीतर ही हो जाती हैं

    ब्यूरो | 25 नवंबर 2020

    सौरव गांगुली

    विचार-रिपोर्ट | क्रिकेट

    जिन ऑनलाइन गेम्स को गांगुली, धोनी और कोहली बढ़ावा दे रहे हैं उन्हें बैन क्यों किया जा रहा है?

    अभय शर्मा | 25 नवंबर 2020