भगत सिंह, सुखदेव. राजगुरू

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव के शहीद होने सहित 23 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

शहीद दिवस | बसंती देवी | राम मनोहर लोहिया | पाकिस्तान | ताइवान

ब्यूरो | 23 मार्च 2019 | फोटो: विकीमीडिया कॉमन्स

1

23 मार्च, 1931 को भगत सिंह और उनके साथी राजगुरु व सुखदेव को लाहौर जेल में फांसी दी गई थी. अंग्रेजी सरकार द्वारा इन क्रांतिकारियों को यह सजा सान्डर्स की हत्या और सेंट्रल असेंबली में बम फेंकने के लिए दी गई थी.

2

23 मार्च, 1880 को भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता बसंती देवी का जन्म हुआ था. सविनय अवज्ञा आंदोलन के सबसे सक्रिय कार्यकर्ताओं में से एक बसंती देवी स्वतंत्रता सेनानी देशबंधु चितरंजन दास की पत्नी थीं.

3

23 मार्च, 1910 को स्वतंत्रता सेनानी, प्रखर चिंतक और समाजवादी राजनेता डॉ राममनोहर लोहिया का जन्म हुआ था. देश में गैर-कांग्रेसवाद की शुरूआत करने के साथ लोहिया समाजवादी आंदोलन के अगुआ भी बने.

4

23 मार्च, 1956 को पाकिस्तान दुनिया का पहला इस्लामिक गणतंत्र देश बना था. 20 करोड़ की आबादी के साथ यह दुनिया छठा सबसे अधिक आबादी वाला देश है जिसमें करीब 95 फीसदी लोग इस्लाम धर्म को मानते हैं.

5

23 मार्च, 1996 को ताइवान में पहला प्रत्यक्ष राष्ट्रपति चुनाव हुआ, जिसमें ली तेंग हुई राष्ट्रपति बने.

  • ममता बनर्जी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    पश्चिम बंगाल में चुनाव कराने के तरीके को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना करना कितना जायज़ है?

    ब्यूरो | 05 मार्च 2021

    किसान आंदोलन

    विचार-रिपोर्ट | किसान

    क्या किसान आंदोलन कमजोर होता जा रहा है?

    ब्यूरो | 03 मार्च 2021

    नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021