सरोजिनी नायडू

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

सरोजिनी नायडू के निधन सहित 02 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

सरोजिनी नायडू | वास्को डी गामा | मिखाइल गोर्बाच्योफ | दास प्रथा | रोडेशिया

ब्यूरो | 02 मार्च 2019

1

02 मार्च, 1949 को ‘भारत कोकिला’ सरोजिनी नायडू ने दुनिया को अलविदा कहा था. उनकी प्रभावी वाणी और ओजपूर्ण लेखनी के कारण यह नाम मिला था. एक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ वे महिला अधिकारों की समर्थक, स्वतंत्रता सेनानी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष रहीं.

2

02 मार्च, 1498 को पुर्तगाल के यात्री वास्को डी गामा और उनका बेड़ा भारत की तरफ अपनी पहली यात्रा के दौरान मोजाम्बीक द्वीप पहुंचा था.

3

02 मार्च, 1807 को अमेरिकी कांग्रेस ने एक कानून पास किया, जिससे देश में गुलामों के आयात पर रोक लग गई. इसे दास प्रथा की समाप्ति की दिशा में यह अहम कदम माना जाता है.

4

02 मार्च, 1931 को सोवियत नेता मिखाइल गोर्बाच्योफ का जन्म हुआ था. उन्हें रूस की नीति में लाए गए उन सुधारों की शुरूआत के लिए जाना जाता है, जिनसे शीत युद्ध के खात्मे का रास्ता बना.

5

02 मार्च, 1970 को रोडेशिया के प्रधानमंत्री इयान स्मिथ ने ब्रिटिश साम्राज्य के साथ अपना अंतिम संपर्क समाप्त करते हुए देश को गणराज्य घोषित किया.

  • रियलमी नार्ज़ो 30 5जी मोबाइल फोन

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    रियलमी नार्ज़ो 30 (5जी): मनोरंजन के लिए मुफीद एक मोबाइल फोन जो जेब पर भी वजन नहीं डालता है

    ब्यूरो | 03 जुलाई 2021

    ह्यूंदेई एल्कजार

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या एल्कजार भारत में ह्यूंदेई को वह कामयाबी दे पाएगी जिसका इंतजार उसे ढाई दशक से है?

    ब्यूरो | 19 जून 2021

    वाट्सएप

    ज्ञानकारी | सोशल मीडिया

    ‘ट्रेसेबिलिटी’ क्या है और इससे वाट्सएप यूजर्स पर क्या फर्क पड़ेगा?

    ब्यूरो | 03 जून 2021

    कोविड 19 की वजह से मरने वाले लोगों की चिताएं

    आंकड़न | कोरोना वायरस

    भारत में अब तक कोरोना वायरस की वजह से कितने लोगों की मृत्यु हुई होगी?

    ब्यूरो | 27 मई 2021