सरोजिनी नायडू

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

सरोजिनी नायडू के निधन सहित 02 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

सरोजिनी नायडू | वास्को डी गामा | मिखाइल गोर्बाच्योफ | दास प्रथा | रोडेशिया

ब्यूरो | 02 मार्च 2019

1

02 मार्च, 1949 को ‘भारत कोकिला’ सरोजिनी नायडू ने दुनिया को अलविदा कहा था. उनकी प्रभावी वाणी और ओजपूर्ण लेखनी के कारण यह नाम मिला था. एक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ वे महिला अधिकारों की समर्थक, स्वतंत्रता सेनानी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष रहीं.

2

02 मार्च, 1498 को पुर्तगाल के यात्री वास्को डी गामा और उनका बेड़ा भारत की तरफ अपनी पहली यात्रा के दौरान मोजाम्बीक द्वीप पहुंचा था.

3

02 मार्च, 1807 को अमेरिकी कांग्रेस ने एक कानून पास किया, जिससे देश में गुलामों के आयात पर रोक लग गई. इसे दास प्रथा की समाप्ति की दिशा में यह अहम कदम माना जाता है.

4

02 मार्च, 1931 को सोवियत नेता मिखाइल गोर्बाच्योफ का जन्म हुआ था. उन्हें रूस की नीति में लाए गए उन सुधारों की शुरूआत के लिए जाना जाता है, जिनसे शीत युद्ध के खात्मे का रास्ता बना.

5

02 मार्च, 1970 को रोडेशिया के प्रधानमंत्री इयान स्मिथ ने ब्रिटिश साम्राज्य के साथ अपना अंतिम संपर्क समाप्त करते हुए देश को गणराज्य घोषित किया.

  • निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 5 घंटे पहले

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 16 घंटे पहले

    भारतीय पुलिस

    आंकड़न | पुलिस

    पुलिस हिरासत में होने वाली 63 फीसदी मौतें 24 घंटे के भीतर ही हो जाती हैं

    ब्यूरो | 25 नवंबर 2020

    सौरव गांगुली

    विचार-रिपोर्ट | क्रिकेट

    जिन ऑनलाइन गेम्स को गांगुली, धोनी और कोहली बढ़ावा दे रहे हैं उन्हें बैन क्यों किया जा रहा है?

    अभय शर्मा | 25 नवंबर 2020