सरोजिनी नायडू

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

सरोजिनी नायडू के निधन सहित 02 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

सरोजिनी नायडू | वास्को डी गामा | मिखाइल गोर्बाच्योफ | दास प्रथा | रोडेशिया

ब्यूरो | 02 मार्च 2019

1

02 मार्च, 1949 को ‘भारत कोकिला’ सरोजिनी नायडू ने दुनिया को अलविदा कहा था. उनकी प्रभावी वाणी और ओजपूर्ण लेखनी के कारण यह नाम मिला था. एक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ वे महिला अधिकारों की समर्थक, स्वतंत्रता सेनानी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष रहीं.

2

02 मार्च, 1498 को पुर्तगाल के यात्री वास्को डी गामा और उनका बेड़ा भारत की तरफ अपनी पहली यात्रा के दौरान मोजाम्बीक द्वीप पहुंचा था.

3

02 मार्च, 1807 को अमेरिकी कांग्रेस ने एक कानून पास किया, जिससे देश में गुलामों के आयात पर रोक लग गई. इसे दास प्रथा की समाप्ति की दिशा में यह अहम कदम माना जाता है.

4

02 मार्च, 1931 को सोवियत नेता मिखाइल गोर्बाच्योफ का जन्म हुआ था. उन्हें रूस की नीति में लाए गए उन सुधारों की शुरूआत के लिए जाना जाता है, जिनसे शीत युद्ध के खात्मे का रास्ता बना.

5

02 मार्च, 1970 को रोडेशिया के प्रधानमंत्री इयान स्मिथ ने ब्रिटिश साम्राज्य के साथ अपना अंतिम संपर्क समाप्त करते हुए देश को गणराज्य घोषित किया.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021