साइना नेहवाल

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

साइना नेहवाल के दुनिया की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने सहित 28 मार्च को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

साइना नेहवाल | कोर्टनी वॉल्श | तुर्की | मार्टिन लूथर किंग | पेन्सिल्वेनिया

ब्यूरो | 28 मार्च 2019 | फोटो: फेसबुक/साइना नेहवाल

1

28 मार्च, 2015 को साइना नेहवाल ने इंडिया ओपन प्रतियोगिता के दौरान विश्व बैडमिंटन वरीयता क्रम में दुनिया की शीर्ष खिलाड़ी होने का गौरव हासिल किया. वे यह दर्जा हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला हैं. पुरुष वर्ग में प्रकाश पादुकोण ने यह उपलब्धि हासिल की थी.

2

28 मार्च, 2000 को वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज कोर्टनी वॉल्श ने जिम्बाब्वे के खिलाफ सबीना पार्क में खेले गए मैच में अपने टेस्ट विकेट के खाते में 435वां विकेट जोड़ कर कपिल देव का 434 टेस्ट विकेट का रिकॉर्ड तोड़ा था. कपिल ने आठ फरवरी, 1994 को 432वां विकेट लेकर न्यूजीलैंड के रिचर्ड हैडली के सबसे अधिक विकेट लेने के विश्व रिकॉर्ड को अपने नाम किया था. वॉल्श ने 2005 में संन्यास लेने से पहले 519 विकेट का पहाड़ खड़ा किया.

3

28 मार्च, 1930 को तुर्की में यूरोपीय मॉडल को अपनाते हुए आधुनिकीकरण की हवा चली थी. उद्योगों के विकास के बीच राजधानी अंगोरा को अंकारा और प्रमुख शहर कॉन्सटानिनोपल को इस्तांबुल नाम दिया गया.

4

28 मार्च, 1965 को मार्टिन लूथर किंग ने अश्वेत अमेरिकियों के लिए समान अधिकारों की मांग करते हुए और उनकी समस्याओं की तरफ सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए अलाबामा की राजधानी मांटगुमरी में विशाल मार्च निकाला.

5

28 मार्च, 1979 को अमेरिका के पेन्सिल्वेनिया के थ्री माइल आइलैंड परमाणु संयंत्र से रेडियोधर्मी विकिरण हुआ. समय रहते उचित कदम उठाने से बड़ा हादसा टल गया था.

  • ममता बनर्जी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    पश्चिम बंगाल में चुनाव कराने के तरीके को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना करना कितना जायज़ है?

    ब्यूरो | 05 मार्च 2021

    किसान आंदोलन

    विचार-रिपोर्ट | किसान

    क्या किसान आंदोलन कमजोर होता जा रहा है?

    ब्यूरो | 03 मार्च 2021

    नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021