राजीव गांधी

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

28 जनवरी को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

राजीव गांधी | प्राइड एंड प्रेजुडिस | अंतरिक्ष यान - चैलेंजर | चौधरी रहमत अली | नेवादो डी कंबेल ज्वालामुखी

ब्यूरो | 28 जनवरी 2019 | फोटो: विकीमीडिया कॉमन्स

1

28 जनवरी, 1998 को देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों को टाडा की एक अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी. 1991 के आम चुनाव में प्रचार के दौरान मई में तमिलनाडु के श्रीपेरूंबुदूर में एक बम हमले में राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी.

2

28 जनवरी, 1813 को ब्रिटेन के मशहूर लेखक जेन आस्टन के रोमांटिक उपन्यास ‘प्राइड एंड प्रेजुडिस’ किताब का पहली बार प्रकाशन हुआ. इसे अंग्रेजी साहित्य की सबसे अधिक चर्चित रचनाओं में गिना जाता है.

3

28 जनवरी, 1986 को इसी दिन अमेरिका का अंतरिक्ष यान ‘चैलेंजर’ दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. फ्लोरिडा से उड़ान भरने के 73 सेकंड के भीतर इसमें विस्फोट हो गया था, जिससे इसमें सवार सभी सात अंतरिक्ष यात्रियों की मौत हो गई थी. मरने वालों में एक शिक्षक भी था, जिसका चयन अंतरिक्ष में जाने वाले पहले असैन्य नागरिक के तौर पर किया गया था.

4

28 जनवरी, 1933 को चौधरी रहमत अली ने मुस्लिम लीग की मांग के तहत बनने वाले अलग राष्ट्र के लिए पाकिस्तान का नाम सुझाया था. रहमत अली, तहरीक-ए-पाकिस्तान यानी पाकिस्तान को अलग देश बनाने के लिए चलाए गए आंदोलन के सबसे बड़े नेताओं में से एक थे.

5

28 जनवरी, 2002 को खराब मौसम के कारण एक्वाडोर का एक विमान नेवादो डी कंबेल ज्वालामुखी की ढलान पर गिरा. इस हादसे में विमान में सवार सभी 92 लोगों की मौत हो गई थी.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021