एक मतदाता

विचार-रिपोर्ट | लोकसभा चुनाव

लोकसभा चुनाव 2019 : पांच आंकड़ों में पहला चरण

लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान जारी है

ब्यूरो | 11 अप्रैल 2019

1

चुनाव के इस चरण में 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मौजूद 91 लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा है. इनमें से एनडीए के पास 35 सीटें हैं जबकि कांग्रेस और उसके सहयोगियों के पास 27 सीटें हैं. दूसरे दलों ने 2014 में इनमें से 26 सीटें जीती थीं. आज केंद्रीय मंत्रियों नितिन गडकरी, वीके सिंह, हंसराज अहीर और महेश शर्मा से लेकर हरीश रावत और असदुद्दीन ओवैसी जैसे दिग्गजों की किस्मत का भी फैसला होना है

2

अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, आंध्र प्रदेश और ओडिशा में लोग विधानसभा के लिए भी वोट डालेंगे. ओडिशा में नवीन पटनायक का बीजू जनता दल पिछले 15 साल से सत्ता में है. उधर, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी सियासी लड़ाई लड़ रहे हैं. कुछ समय पहले भाजपा छोड़ने के बाद उन्होंने तेलंगाना चुनाव के लिए कांग्रेस से हाथ मिलाया था. लेकिन अपने राज्य में उन्होंने कांग्रेस के साथ एक भी सीट न बांटने का फैसला किया. उनकी मुख्य लड़ाई वाईएसआर कांग्रेस के जगन मोहन रेड्डी से बताई जा रही है.

3

चुनाव के इस चरण में 14.21 करोड़ मतदाता अपने अधिकार का इस्तेमाल करेंगे. इनमें से 7.22 करोड़ पुरुष हैं और 8.99 करोड़ महिलाएं. वहीं पूरे चुनाव की बात करें तो करीब डेढ़ करोड़ ऐसे मतदाता हैं जो पहली बार वोट डालेंगे.

4

चुनाव आयोग ने इस चरण के लिए 1.70 लाख मतदान केंद्र बनाए हैं. महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और गोंदिया जैसे कुछ नक्सलप्रभावित इलाकों में मतदान का समय सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक का रखा गया है.

5

कुल मिलाकर 1279 उम्मीदवार मैदान में हैं. इनमें से 83 भाजपा से हैं और इतने ही कांग्रेस से. बसपा के 33, वाईएसआर कांग्रेस के 26 और तेलुगू देशम पार्टी के 25 उम्मीदवार ताल ठोक रहे हैं. कुल उम्मीदवारों में 89 यानी सिर्फ सात फीसदी महिलाएं हैं.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021