रफाल विमान सौदा

विचार-रिपोर्ट | बुलेटिन

रफाल मामले में पुनर्विचार के खिलाफ केंद्र की आपत्ति खारिज होने सहित आज के पांच बड़े समाचार

रफाल मामला | चुनाव आयोग | गुजरात | राहुल गांधी | इजरायल

ब्यूरो | 10 अप्रैल 2019 | फोटो: फ्लिकर

1

रफाल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पुनर्विचार के खिलाफ केंद्र की आपत्ति खारिज की

रफ़ाल मामले में मोदी सरकार को बड़ा झटका लगा है. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर पुनर्विचार के खिलाफ उसकी आपत्ति ख़ारिज कर दी. सरकार ने उससे इस मामले में पहले सुनाए गए फै़सले को बनाए रखने की अपील की थी. इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल सौदे की जांच करने की अपील को ख़ारिज कर दिया था. उसके बाद ये अपील करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी और वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पुनर्विचार याचिका दायर की थी. उन्होंने अदालत के सामने कुछ नए दस्तावेज़ पेश किए थे. इस पर सरकार ने कहा था कि ये दस्तावेज़ चोरी के हैं. उसका ये भी कहना था कि इन गोपनीय दस्तावेजों पर चर्चा करने से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है, इसलिए अदालत को इन पर ध्यान नहीं देना चाहिए. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने ये दलीलें खारिज कर दीं.

2

चुनाव आयोग ने फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ पर लोकसभा चुनाव खत्म होने तक रोक लगायी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है. उसने इसकी रिलीज पर रोक लगा दी है. चुनाव आयोग ने कहा है कि जब तक लोकसभा चुनाव खत्म नहीं हो जाते, तब तक ये रोक जारी रहेगी. इससे पहले मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग करती याचिका को खारिज कर दिया था. शीर्ष अदालत ने कहा था कि ये फिल्म चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर सकती है या नहीं, ये चुनाव आयोग को तय करना है. कांग्रेस सहित विपक्षी दलों का दावा था कि फिल्म चुनाव में भाजपा को अनुचित लाभ देगी और चुनाव समाप्त होने तक इसकी रिलीज को टाल दिया जाना चाहिए. सात-चरण में होने वाले लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू होने हैं और ये 19 मई को समाप्त होंगे.

3

गुजरात में अल्पेश ठाकोर सहित तीन विधायकों ने कांग्रेस छोड़ी

गुजरात में कांग्रेस को झटका लगा है. उसके युवा विधायक अल्पेश ठाकोर ने अपने दो अन्य समर्थक विधायकों के साथ पार्टी छोड़ दी है. बताया जाता है कि अल्पेश अपने समुदाय की उपेक्षा से नाराज़ थे. चर्चा है कि वे जल्द ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं. अल्पेश ठाकोर 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हुए थे. वे पिछड़े समुदाय के लोकप्रिय नेता हैं. इसलिए माना जा रहा है कि उनके जाने से कांग्रेस का चुनाव गणित बिगड़ सकता है. गुजरात की सभी लोक सभा सीटों पर 23 अप्रैल को मतदान होना है.

4

राहुल गांधी ने अमेठी से पर्चा भरा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा चुनाव के लिए अमेठी से अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है. इस दौरान उनकी मां सोनिया गांधी और बहन प्रियंका गांधी भी उनके साथ थे. नामांकन दखिल करने से पहले राहुल गांधी ने एक रोड शो भी किया. अमेठी में लगातार दूसरी बार राहुल गांधी के मुकाबले में भारतीय जनता पार्टी ने स्मृति ईरानी को उम्मीदवार बनाया है. वे गुरुवार को अपना नामांकन दाख़िल करेंगी. गुरुवार को ही सोनिया गांधी भी रायबरेली सीट से नामांकन दाख़िल करने वाली हैं. अमेठी में चुनाव के पांचवें चरण में छह मई को मतदान है. कांग्रेस अध्यक्ष ने केरल के वायनाड से भी नामांकन भरा है.

5

इजरायल : बेंजामिन नेतन्याहू का पांचवीं बार प्रधानमंत्री बनना लगभग तय

बेंजामिन नेतन्याहू का फिर इजरायल का प्रधानमंत्री बनना तय दिख रहा है. ताजा खबर मिलने तक वहां आम चुनाव में पड़े 97 फीसदी वोटों की गिनती हो चुकी थी. बेंजामिन नेतन्याहू की लिकूड पार्टी को 120 सदस्यीय संसद में 35 सीटें मिल चुकी हैं. उनके प्रमुख विरोधी ब्लू एंड व्हाइट गठबंधन को भी इतनी ही सीटें मिली हैं. लेकिन सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर बेंजामिन नेतन्याहू आराम से बहुमत के लिए जरूरी 61 सीटों का आंकड़ा पार कर सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो वे रिकॉर्ड पांचवीं बार देश के मुखिया बनेंगे. इसके साथ ही वे इजरायल में सबसे लंबे कार्यकाल वाले प्रधानमंत्री भी बन जाएंगे. भ्रष्टाचार के मामलों से घिरे नेतन्याहू के लिए इसे बड़ी सफलता माना जा रहा है.

  • अमित शाह, भाजपा

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    तेलंगाना का एक नगर निगम चुनाव भाजपा के लिए इतना बड़ा क्यों बन गया है?

    अभय शर्मा | 30 नवंबर 2020

    सैमसंग गैलेक्सी एस20

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    सैमसंग गैलेक्सी एस20: दुनिया की सबसे अच्छी स्क्रीन वाले मोबाइल फोन्स में से एक

    ब्यूरो | 27 नवंबर 2020

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 26 नवंबर 2020

    निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 26 नवंबर 2020