डोनाल्ड ट्रंप

विचार-रिपोर्ट | विदेश

डोनाल्ड ट्रंप के ज्यादा बीमार होने पर अमेरिका की सरकार और राष्ट्रपति चुनाव पर क्या असर पड़ेगा?

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव से महज एक महीना पहले वहां के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं

अभय शर्मा | 04 अक्टूबर 2020 | फोटो : डोनाल्ड ट्रंप / सोशल मीडिया

1

दो अक्टूबर को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. इसके बाद उन्हें वाल्टर रीड सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया. इससे एक दिन पहले व्हाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप की निजी सलाहकार होप हिक्स कोरोना संक्रमित पाई गई थीं जिसके बाद राष्ट्रपति और उनकी पत्नी का कोरोना टेस्ट कराया गया था. डोनाल्ड ट्रंप के फिजिशियन डॉक्टर सीन कोनले के मुताबिक अभी राष्ट्रपति में कोविड-19 के काफी कम लक्षण हैं और वे अगले कुछ दिनों तक अस्पताल से ही अपना काम-काज देखेंगे. हालांकि, ट्रंप की उम्र और वजन को देखते हुए कुछ स्वास्थ्य विषेशज्ञों का कहना है कि उन पर कोविड-19 की गंभीर श्रेणी में पहुंचने का खतरा काफी अधिक है. 74 साल की उम्र में अमेरिकी राष्ट्रपति का वजन 124 किलोग्राम है.

2

डोनाल्ड ट्रंप पर बने इस खतरे के चलते दुनिया भर में लोगों के दिमाग में कई सवाल उठ रहे हैं, इनमें से एक यह कि अगर वे ज्यादा बीमार हो जाते हैं तो अमेरिका में सरकार की बागडोर कौन संभालेगा. अमेरिकी संविधान के 25वें संशोधन में इस तरह की समस्या का समाधान सुझाया गया है. पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी की हत्या के बाद 1963 में अमेरिकी संसद (कांग्रेस) ने इस संशोधन को मंजूरी दी थी. इसमें अमेरिकी राष्ट्रपति की अचानक मृत्यु होने, पद से इस्तीफा देने और पद पर रहते हुए काम करने में सक्षम न होने की स्थिति में उनका उत्तराधिकारी चुनने का तरीका बताया गया है.

3

25वें संशोधन के अनुच्छेद-3 के अनुसार यदि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की हालत इतनी ज्यादा बिगड़ जाती है कि इसके चलते वे राष्ट्रपति के रूप में अपनी जिम्मेदारियों को निभा नहीं पाते, तो उपराष्ट्रपति माइक पेंस को अस्थायी रूप से राष्ट्रपति की जिम्मेदारी संभालनी होगी. हालांकि, उपराष्ट्रपति को सत्ता सौंपने से पहले डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिकी संसद के दोनों सदनों के प्रमुखों को पत्र लिखकर अपने फैसले की जानकारी देना जरूरी है. अनुच्छेद-3 के मुताबिक कुछ दिनों के बाद ट्रंप फिर से अपना पद संभाल सकते हैं.

4

अमेरिकी संविधान के 25वें संशोधन के अनुच्छेद-4 के मुताबिक अगर अमेरिका के राष्ट्रपति खुद यह घोषणा नहीं कर पाते कि वे अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं कर सकते, तो उपराष्ट्रपति कैबिनेट का बहुमत पाकर यह घोषणा कर सकते हैं. ऐसी स्थिति में वे तब तक राष्ट्रपति का पद संभालेंगे जब तक कि राष्ट्रपति लिखित रूप से अपने स्वस्थ होने की घोषणा नहीं करते. अगर किसी कारणवश राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति दोनों ही सत्ता चलाने की स्थिति में नहीं हैं, तो फिर यह जिम्मेदारी अमेरिकी संसद के निचले सदन – हाउस ऑफ रेप्रज़ेंटेटिव – के अध्यक्ष को दी जाएगी.

5

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने में महज एक महीने का समय ही बचा है. अमेरिका का चुनाव वहां के कानून के तहत नवंबर महीने के पहले सोमवार के अगले दिन होता है. चुनाव की तारीख़ बिना संसद की मर्जी के आगे नहीं बढ़ सकती. यानी तारीख आगे बढ़वाने के लिए संसद के दोनों सदनों – सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रज़ेंटेटिव – में बहुमत चाहिए. इस समय अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों की संख्या ज्यादा है, ऐसे में रिपब्लिकन पार्टी के लिए चुनाव की तारीख आगे बढ़वाना संभव नहीं दिखता. अगर डोनाल्ड ट्रंप स्वास्थ्य कारणों से चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं होते हैं तो उनकी पार्टी उनकी उम्मीदवारी खारिज करके नए उम्मीदवार का चयन कर सकती है. इस स्थिति में सबसे ज्यादा संभावना उपराष्ट्रपति पद के प्रत्याशी की होती है. लेकिन पार्टी चाहे तो अपने किसी अन्य नेता को भी तरजीह दे सकती है.

  • कोरोना वायरस वैक्सीन

    ज्ञानकारी | स्वास्थ्य

    कोरोना वायरस के एमआरएनए वैक्सीन में ऐसा क्या है जो बाकियों में नहीं है?

    ब्यूरो | 14 घंटे पहले

    अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    अखिलेश यादव अगले विधानसभा चुनाव में किसी पार्टी से गठबंधन क्यों नहीं करना चाहते?

    अभय शर्मा | 23 घंटे पहले

    माइक्रोवेब हथियार

    ज्ञानकारी | सेना

    माइक्रोवेव हथियार क्या होते हैं?

    ब्यूरो | 21 नवंबर 2020

    बराक ओबामा

    विचार-रिपोर्ट | विदेश

    बराक ओबामा ने अपनी किताब – अ प्रॉमिस्ड लैंड – में किन भारतीयों का जिक्र किया है

    अभय शर्मा | 19 नवंबर 2020