विचार-रिपोर्ट | बुलेटिन

कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र जारी होने सहित आज के पांच बड़े समाचार

कांग्रेस | हार्दिक पटेल | भारतीय सेना | कल्याण सिंह | नासा

ब्यूरो | 02 अप्रैल 2019 | फोटो : कांग्रेस / ट्विटर

1

कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया

कांग्रेस ने लोक सभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. इसमें ग़रीबों के लिए न्यूनतम आय योजना यानी न्याय और किसानों के मसलों को प्रमुखता दी गई है. कांग्रेस ने ‘न्याय’ के तहत पांच करोड़ ग़रीब परिवारों के लिए कम से कम 72 हजार रुपए सालाना आय सुनिश्चित करने का वादा किया है. इसके अलावा उसने जीएसटी की सिर्फ़ दो दरें लागू करने की बात कही है. पार्टी ने सरकार बनने पर एक साल के भीतर 22 लाख सरकारी पद भरने का भी वादा किया है. इसके अलावा कांग्रेस ने कहा है कि जो किसान कर्ज़ नहीं चुका पाएंगे उनसे जबरन वसूली नहीं की जाएगी. इसके अलावा घोषणापत्र में राजद्रोह से जुड़ा कानून खत्म करने और सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम यानी अफस्पा की समीक्षा की भी बात है.

2

सुप्रीम कोर्ट ने हार्दिक पटेल की जल्द सुनवाई की मांग ख़ारिज़ की, कहा- ऐसी जल्दी क्या है?

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात कांग्रेस के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को बड़ा झटका दिया है. वे अहमदाबाद हाईकोर्ट के एक आदेश के ख़िलाफ़ शीर्ष अदालत पहुंचे थे. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इसकी सुनवाई तुरंत करने से इनकार कर दिया. हार्दिक पटेल को दंगे के एक मामले में निचली अदालत ने दो साल क़ैद की सज़ा सुनाई है. इस सजा पर रोक के लिए उन्होंने अहमदाबाद हाई कोर्ट में अपील की थी. लेकिन उसने इससे इनकार कर दिया. कांग्रेस में शामिल हो चुके हार्दिक पटेल के इस बार लोक सभा चुनाव लड़ने की चर्चा है. लेकिन नामांकन दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़, यानी चार अप्रैल तक उनकी सजा पर रोक नहीं लगी तो वे चुनाव नहीं लड़ सकेंगे. गुजरात में 23 अप्रैल को वोटिंग होनी है.

3

नियंत्रण रेखा पर भारत की जवाबी फायरिंग में तीन पाकिस्तानी सैनिक मारे गए

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्ष विराम के उल्लंघन के बाद भारतीय सेना ने बड़ी जवाबी कार्रवाई की है. पूंछ और नौशेरा सेक्टर में हुई इस कार्रवाई में सात पाकिस्तानी चौकियां तबाह हो गई हैं और कम से कम तीन सैनिक मारे गए हैं. पाकिस्तानी सेना ने भी इन सैनिकों की मौत की पुष्टि की है. इससे पहले इसी इलाके में सोमवार को हुई पाकिस्तानी सेना की फायरिंग में बीएसएफ के एक इंस्पेक्टर सहित तीन लोगों की मौत हो गई थी. गोलीबारी के चलते पूंछ और राजौरी जिले में एहतियातन स्कूल बंद कर दिए हैं. साथ ही, स्थानीय लोगों से घरों के भीतर ही रहने को कहा गया है.

4

चुनाव आयोग राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की राष्ट्रपति से शिकायत करेगा

चुनाव आयोग राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की राष्ट्रपति रामनाथ सिंह कोविंद से शिकायत करेगा. कल्याण सिंह ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भाजपा कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान ख़ुद को पार्टी कार्यकर्ता बताया था. साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर जिताने की अपील भी की थी. चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना है. आयोग द्वारा किसी राज्यपाल को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी मानने का ये दूसरा मामला है. 1993 में हिमाचल प्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल गुलशेर अहमद को भी इसका दोषी माना गया था. वे उस वक़्त अपने बेटे के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हुए पाए गए थे. मामला सामने आने के बाद गुलशेर अहमद को अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

5

नासा ने भारत के एंटी सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण को ख़तरनाक बताया

अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भारत के एंटी-सेटेलाइट मिसाइल परीक्षण को खतरनाक करार दिया है. नासा के प्रमुख जिम ब्राइडेन्स्टाइन ने इसे अस्वीकार्य बताया. उन्होंने कहा कि इस परीक्षण से अंतरिक्ष में जो कचरा फैला है वह इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के लिए खतरा है. नासा का कहना है कि भारत के परीक्षण की वजह से पिछले 10 दिन में इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन को खतरा 44 फीसदी तक बढ़ गया है. भारत ने बीते हफ्ते इस परीक्षण की घोषणा की थी. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा था कि इससे भारत अब अमेरिका, रूस और चीन की क़तार में खड़ा हो गया है.

  • निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 4 घंटे पहले

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 14 घंटे पहले

    भारतीय पुलिस

    आंकड़न | पुलिस

    पुलिस हिरासत में होने वाली 63 फीसदी मौतें 24 घंटे के भीतर ही हो जाती हैं

    ब्यूरो | 25 नवंबर 2020

    सौरव गांगुली

    विचार-रिपोर्ट | क्रिकेट

    जिन ऑनलाइन गेम्स को गांगुली, धोनी और कोहली बढ़ावा दे रहे हैं उन्हें बैन क्यों किया जा रहा है?

    अभय शर्मा | 25 नवंबर 2020