विजय माल्या

विचार-रिपोर्ट | अख़बार

विजय माल्या के मोदी सरकार पर सवाल उठाने सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

द टाइम्स ऑफ इंडिया | द हिंदू | नवभारत टाइम्स | अमर उजाला | दैनिक जागरण

ब्यूरो | 01 अप्रैल 2019 | फोटो: यूट्यूब

1

यमुना एक्सप्रेस वे पर मार्च, 2018 तक हुए हादसों में 718 लोगों की मौत

यमुना एक्सप्रेस वे पर गाड़ियों की तेज गति यात्रियों के लिए जानलेवा साबित हो रही है. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक आरटीआई जवाब के हवाले से कहा है कि अगस्त, 2012 से मार्च, 2018 के बीच इस मार्ग पर 4,956 हादसे हुए हैं. इनमें 718 लोगों की मौत हो गई. साथ ही, 7,671 यात्री गंभीर रूप से घायल हुए हैं. वहीं, इस साल इस एक्सप्रेस वे पर 130 से अधिक दुर्घटनाएं हो चुकी हैं. इनमें 50 से अधिक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. इस आरटीआई जवाब को हासिल करने वाले सुप्रीम कोर्ट के वकील केसी जैन ने कहा, ‘हमने सरकारी एजेंसियों से गाड़ियों की गति कम करने के लिए प्रभावकारी कदम उठाने की मांग की थी. लेकिन, हमारी मांग पर वर्षों बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई.’

2

दिल्ली : कांग्रेस और ‘आप’ के बीच चुनावी गठबंधन को लेकर आधिकारिक एलान की संभावना

लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन को लेकर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित सोमवार को आधिकारिक एलान कर सकती हैं. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक माना जा रहा है कि दिल्ली कांग्रेस ‘आप’ के साथ गठबंधन के लिए तैयार हो गई है. बीते शनिवार की रात को शीला दीक्षित के निजी आवास पर इस बारे में एक बैठक हुई थी. इसमें पीसी चाको और केसी वेणुगोपाल मौजूद थे. बताया जाता है कि इस बैठक में संभावित उम्मीदवारों के बारे में भी चर्चा की गई. वहीं, ‘आप’ दिल्ली की सातों सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों का एलान पहले ही कर चुकी है.

3

सरकार कर्ज से अधिक की मेरी संपत्ति जब्त कर चुकी है : विजय माल्या

भगोड़े घोषित हो चुके आर्थिक अपराधी और पूर्व राज्यसभा सासंद विजय माल्या ने अपने ऊपर हो रही सख्त कार्रवाई को लेकर सवाल उठाया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक उसने ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद एक साक्षात्कार में मेरा नाम लेते हुए कहा कि मेरे ऊपर बैंकों का 9,000 करोड़ रुपये कर्ज है. सरकार मेरी 14,000 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है.’ विजय माल्या ने आगे कहा कि जब देश के सबसे बड़े अधिकारी पूरी कर्ज वसूली की बात स्वीकार कर चुके हैं तो भाजपा प्रवक्ता क्यों मेरे पीछे पड़े हुए हैं. माल्या ने कहा, ‘भारत में मेरी छवि पोस्टर बॉय की बना दी गई है. मैं साल 1992 से ही ब्रिटेन निवासी हूं जिसे नजरअंदाज कर दिया गया. मुझे भगोड़ा कहना भाजपा को जंचता है.’

4

रेलवे बोर्ड ने सभी तरह के राजनीतिक विज्ञापन हटाने के आदेश दिए

अलग-अलग रेलवे जोन में चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले सामने आने के बाद रेलवे बोर्ड ने तत्काल रेलवे परिसरों से सभी तरह के राजनीतिक विज्ञापन हटाए जाने के आदेश दिए हैं. अमर उजाला की खबर के मुताबिक बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने इसके लिए जारी आदेश में कहा है कि रेलवे टिकट, अन्य रेलवे स्टेशनरी, रेल के डिब्बों और स्टेशन परिसर में किसी भी राजनीतिक विज्ञापन को तुरंत हटा लिया जाए. अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि चुनाव आयोग ने रेलवे को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी मानते हुए जवाब भी मांगा है. इससे पहले आयोग ने प्रधानमंत्री की फोटो वाले टिकट यात्रियों को जारी करने पर रेलवे को नोटिस जारी किया था.

5

मन तो नहीं है कि लोकसभा का चुनाव लड़ूं : शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर अनिच्छा जाहिर की है. दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर की मानें तो उन्होंने कहा, ‘मन तो नहीं है कि लोकसभा का चुनाव लड़ूं. लेकिन, पार्टी कहेगी तो भोपाल क्या राघौगढ़ से भी लड़ जाऊंगा.’ राघौगढ़ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का गढ़ माना जाता है. वहीं, विदिशा से पत्नी साधना सिंह के चुनाव लड़ने के सवाल पर शिवराज सिंह चौहान ने साफ किया कि वे भी चुनाव नहीं लड़ेंगी. फिलहाल विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विदिशा से सांसद हैं. हालांकि, उन्होंने साल 2019 का चुनाव लड़ने से पहले ही इनकार कर दिया है.

  • सैमसंग गैलेक्सी एस20

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    सैमसंग गैलेक्सी एस20: दुनिया की सबसे अच्छी स्क्रीन वाले मोबाइल फोन्स में से एक

    ब्यूरो | 27 नवंबर 2020

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 26 नवंबर 2020

    निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 26 नवंबर 2020

    भारतीय पुलिस

    आंकड़न | पुलिस

    पुलिस हिरासत में होने वाली 63 फीसदी मौतें 24 घंटे के भीतर ही हो जाती हैं

    ब्यूरो | 25 नवंबर 2020