सुप्रीम कोर्ट

विचार-रिपोर्ट | अख़बार

सुप्रीम कोर्ट के दो कर्मचारियों की गिरफ्तारी सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

हिंदुस्तान | द टाइम्स ऑफ इंडिया | द एशियन एज | द हिंदू | नवभारत टाइम्स

ब्यूरो | 09 अप्रैल 2019 | फोटो: विकीमीडिया कॉमन्स

1

लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए प्रतिदिन 10 लाख फेसबुक अकाउंट बंद

लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर फेसबुक प्रतिदिन 10 लाख संदिग्ध अकाउंट बंद कर रहा है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक इसके लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग टूल्स का इस्तेमाल किया जा रहा है. फेसबुक-भारत के प्रबंध निदेशक अजित मोहन ने कहा है, ‘हम भारत में लोकसभा चुनाव की अखंडता को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम स्थानीय संगठनों, सरकारी संस्थाओं और विशेषज्ञों की मदद से लगातार चुनावों की सत्यनिष्ठा को बनाए रखने के लिए काम करते रहेंगे. वहीं, फेसबुक ने चुनाव से जुड़ी दो नई सेवाएं शुरू की हैं. इनमें कैंडिडेट कनेक्ट के जरिए लोगों को उम्मीदवार से जुड़ने और मुद्दों को समझने का मौका मिलेगा. साथ ही, शेयर यू वोटेड की मदद से दूसरों को बता सकेंगे की उन्होंने मतदान किया है.

2

अनिल अंबानी से जुड़े आदेश में हेरफेर करने वाले सुप्रीम कोर्ट के दो पूर्व कर्मचारी गिरफ्तार

रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमैन अनिल अंबानी से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश में हेर-फेर करने के मामले में शीर्ष अदालत के दो पूर्व कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है. क्राइम ब्रांच द्वारा की गई कार्रवाई के बाद दोनों कर्मचारियों तपन कुमार चक्रवर्ती और मानव शर्मा को फिलहाल सात दिन की पुलिस रिमांड पर रखा गया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक अवमानना के मामले में अनिल अंबानी को सुप्रीम कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया गया था. लेकिन वेबसाइट पर अपलोड किए गए आदेश में लिखा था कि अंबानी को कोर्ट में पेश होना है. मामला सामने आने के बाद पता चला कि उस समय सुप्रीम कोर्ट में असिस्टेंड रजिस्ट्रार तपन और कोर्ट मास्टर मानव ने आदेश लिखते समय ‘पेश होना है’ में ‘नहीं’ जोड़ दिया.

3

भाजपा को नागरिक संशोधन विधेयक पारित कराने के वादे से बचना चाहिए था : एजीपी

भाजपा द्वारा संकल्प पत्र में नागरिक संशोधन विधेयक को संसद से पारित कराने के वादे के बाद असम में इसके सहयोगी दल- असम गण परिषद (एजीपी) के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई है. द एशियन एज की रिपोर्ट के मुताबिक एजीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री प्रफुल्ल कुमार महंता ने कहा है, ‘भाजपा को इस तरह की घोषणा करने से बचना चाहिए था. एजीपी का नागरिक संशोधन विधेयक पर पहले के मत में कोई बदलाव नहीं है.’ इससे पहले इस विधेयक के विरोध में एजीपी ने राज्य में भाजपा का साथ छोड़ दिया था. हालांकि, चुनाव से पहले दोनों दल एक बार फिर साथ आ गए. एजीपी राज्य की 14 में से तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भी भाजपा ने इस नागरिकता कानून में संशोधन करने का वादा किया था. लेकिन, वह केवल लोकसभा से इस विधेयक को पारित कराने में कामयाब हो पाई.

4

दो टीवी चैनलों के खिलाफ चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

महाराष्ट्र कांग्रेस ने दो टीवी चैनलों, एंड टीवी और जीटीवी के खिलाफ चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी के सामने अपनी बात रखी है. उसका कहना है कि इनके ‘भाबीजी घर पर हैं’ और ‘तुझसे है राब्ता’ धारावाहिकों में पात्रों को सरकारी योजनाओं का प्रचार करते हुए दिखाया गया है. कांग्रेस ने इन चैनलों के साथ धारावाहिकों में काम करने वाले कर्मचारियों और भाजपा के खिलाफ भी शिकायत दर्ज करने की मांग की है.

5

कीर्ति आजाद धनबाद से कांग्रेस प्रत्याशी

कांग्रेस ने कीर्ति आजाद को झारखंड के धनबाद से उम्मीदवार बनाया है. नवभारत टाइम्स के मुताबिक पार्टी ने उनके नाम का एलान सोमवार को किया. इससे पहले कीर्ति आजाद भाजपा की टिकट पर साल 2014 में बिहार के दरभंगा सीट से जीत हासिल की थी. इस बार भी वे इसी सीट से उम्मीदवारी चाहते थे. हालांकि, महागठबंधन के भीतर सीटों के बंटवारे के तहत दरभंगा राजद के हिस्से आई. राजद ने इस सीट पर अपने वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दकी को उतारा है. वहीं, कीर्ति आजाद का पैतृक गांव झारखंड स्थित गोड्डा में है. दरभंगा में उनका ससुराल है. कांग्रेस झारखंड के 14 सीटों में से सात पर लड़ रही है.

  • रियलमी नार्ज़ो 30 5जी मोबाइल फोन

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    रियलमी नार्ज़ो 30 (5जी): मनोरंजन के लिए मुफीद एक मोबाइल फोन जो जेब पर भी वजन नहीं डालता है

    ब्यूरो | 03 जुलाई 2021

    ह्यूंदेई एल्कजार

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या एल्कजार भारत में ह्यूंदेई को वह कामयाबी दे पाएगी जिसका इंतजार उसे ढाई दशक से है?

    ब्यूरो | 19 जून 2021

    वाट्सएप

    ज्ञानकारी | सोशल मीडिया

    ‘ट्रेसेबिलिटी’ क्या है और इससे वाट्सएप यूजर्स पर क्या फर्क पड़ेगा?

    ब्यूरो | 03 जून 2021

    कोविड 19 की वजह से मरने वाले लोगों की चिताएं

    आंकड़न | कोरोना वायरस

    भारत में अब तक कोरोना वायरस की वजह से कितने लोगों की मृत्यु हुई होगी?

    ब्यूरो | 27 मई 2021