जलियांवाला बाग

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

जलियांवाला बाग हत्याकांड सहित 13 अप्रैल को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

जलियांवाला बाग हत्याकांड | खालसा पंथ | सोवियत संघ और जापान | टाइगर वुड्स | हंगरी

ब्यूरो | 13 अप्रैल 2019 | फोटो: विकीपीडिया

1

13 अप्रैल, 1919 में आज ही के दिन अंग्रेजों द्वारा जलियांवाला बाग हत्याकांड को अंजाम दिया गया था. अमृतसर के इस बाग में बैसाखी मना रहे लोगों पर अंग्रेज जनरल डायर के कहने पर अधाधुंध गोलियां बरसाईं गईं थी. बताया जाता है कि इस दुर्घटना में करीब हजार लोगों की मौत हो गई थी और डेढ़ हजार से भी ज्यादा घायल हुए थे.

2

13 अप्रैल, 1699 में गुरू गोबिंद सिंह जी ने खालसा पंथ की स्‍थापना की. गुरू गोबिंद सिंह सिखों के दसवें गुरू थे. उन्होंने सन 1699 में पंजाब के आनंदपुर साहिब में इस पंथ की शुरूआत की.

3

13 अप्रैल, 1941 सोवियत संघ और जापान के बीच शांति संधि हुई थी. दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान पश्चिमी ताकतों को अपनी तरफ बढ़ते देख रूस पूर्व की तरफ शांति स्थापित करने पर मजबूर हुआ था औऱ जापान से तटस्थता संधि की थी.

4

13 अप्रैल, 1997 को अमरीका के गोल्फ़ खिलाड़ी एल्ड्रिक टाइगर वुड्स 21 साल की उम्र में यूएस मास्टर्स चैंपियनशिप जीतने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए. 107 प्रोफेशनल टूर्नामेंट और 18 वर्ल्ड गोल्फ चैम्पियनशिप जीतने के साथ गोल्फ के तमाम रिकार्ड्स उन्होंने अपने नाम किए हैं. आज वुड्स दुनिया के दूसरे नंबर के गोल्फ खिलाड़ी हैं.

5

13 अप्रैल, 1849 हंगरी को गणराज्य बनाया गया. हंगरी ने यह आजादी ऑस्ट्रियन राजशाही का विद्रोह करके पाई थी. इसके पहले हंगरी पर ऑस्ट्रिया के हैब्सबर्ग वंश का शासन था.

  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021

    किरण बेदी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    जब किरण बेदी पुडुचेरी में कांग्रेस की सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई थीं तो उन्हें हटाया क्यों गया?

    अभय शर्मा | 19 फरवरी 2021

    एलन मस्क टेस्ला

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    जिस बिटकॉइन को प्रतिबंधित करने की मांग हो रही है, उस पर टेस्ला ने दांव क्यों लगाया है?

    ब्यूरो | 18 फरवरी 2021