चार्ली चैपलिन

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

चार्ली चैप्लिन के जन्म सहित 16 अप्रैल को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

चार्ली चैप्लिन | पहली रेलगाड़ी | सोवियत यूनियन | द ग्रेट ट्रेन रॉबरी | हैरल्ड विल्सन

ब्यूरो | 16 अप्रैल 2019

1

16 अप्रैल, 1889 को विश्व सिनेमा के महानतम कलाकार चार्ली चैपलिन का जन्म इंग्लैंड में हुआ था. पिता के ना होने और मां के मेंटल असाइलम में पहुंच जाने के चलते चैपलिन ने 14 बरस की उम्र में ही स्टेज पर परफॉर्म करना शुरू कर दिया था. बेहद मुश्किल बचपन गुजारने वाले इस कलाकार ने व्यक्ति और समाज की त्रासदी को हास्य के माध्यम से दुनिया के सामने पेश किया.

2

16 अप्रैल, 1853 को देश की पहली रेल बंबई (अब मुंबई) से ठाणे के बीच चली थी. बताया जाता है कि उस दिन दोपहर को 3.35 बजे चली इस ट्रेन ने 35 किलोमीटर का सफर तय किया था. 20 डब्बों की उस ट्रेन को तीन इंजनो की मदद से चलाया गया था जिन्हें ब्रिटेन से मंगवाया गया था. करीब 400 लोगों ने उस ऐतिहासिक यात्रा का अनुभव लिया था.

3

6 अप्रैल, 1919 को अमृतसर में हुए जलियांवाला बाग हत्याकांड में मरने वालों को श्रद्धांजलि देने के लिए महात्मा गांधी ने प्रार्थना सभा और उपवास की घोषणा की. 13 अप्रैल को अंग्रेज जनरल डायर ने बाग में शांति पूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर अधाधुंध गोलिया चलवाईं थीं. इसमें करीब एक हजार लोग मारे गए थे और इतने ही घायल भी हुए थे.

4

16 अप्रैल, 1964 को ब्रिटेन के चर्चित अपराधों में शामिल ‘द ग्रेट ट्रेन रॉबरी’ के लिए 12 लोगों को 307 साल की सज़ा सुनाई गई. 08 अगस्त, 1963 को ग्लासगो से लंदन जा रही रॉयल मेल ट्रेन में तकरीबन ढाई मिनियन यूरो की संपत्ति लूटी गई थी. इस घटना को द ग्रेट ट्रेन रॉबरी के नाम से जाना जाता है और तब यह दुनिया भर में चर्चित हुई थी.

5

16 अप्रैल, 1976 को आठ वर्ष तक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री और 13 वर्षों तक लेबर पार्टी के नेता रहे, हैरल्ड विल्सन ने त्यागपत्र दिया. उनके इस फैसले ने राजनीतिक हलकों में तूफान ला दिया था क्योंकि यह वह दौर था जब ब्रिटेन सहित ज्यादातर पश्चिमी देश आर्थिक संकटों से जूझ रहे थे.

  • ममता बनर्जी

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    पश्चिम बंगाल में चुनाव कराने के तरीके को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना करना कितना जायज़ है?

    ब्यूरो | 05 मार्च 2021

    किसान आंदोलन

    विचार-रिपोर्ट | किसान

    क्या किसान आंदोलन कमजोर होता जा रहा है?

    ब्यूरो | 03 मार्च 2021

    नरेंद्र मोदी स्टेडियम

    तथ्याग्रह | राजनीति

    क्या सरकार का यह दावा सही है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम पहले सरदार पटेल स्टेडियम नहीं था?

    ब्यूरो | 26 फरवरी 2021

    अमित शाह

    विचार-रिपोर्ट | राजनीति

    क्या पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्यवाही ने भाजपा को वह दे दिया है जिसकी उसे एक अरसे से तलाश थी?

    ब्यूरो | 24 फरवरी 2021