यूट्यूब पर पहला वीडियो

विचार-रिपोर्ट | आज का कल

यूट्यूब पर पहला वीडियो अपलोड होने सहित 23 अप्रैल को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

यूट्यूब | विलियम शेक्सपीय | सत्यजीत रे | महिला अधिकार | विश्व पुस्तक दिवस

ब्यूरो | 23 अप्रैल 2019 | फोटो: यूट्यूब स्क्रीनशॉट

1

23 अप्रैल, 2005 को यूट्यूब की वेबसाइट पर पहला वीडियो अपलोड किया गया था. यह वीडियो यूट्यूब के संस्थापक जावेद करीम की सैन-डिएगो चिड़ियाघर की यात्रा का था. एक वर्ष के भीतर इस साइट पर करीब 10 करोड़ वीडियो अपलोड किए गए.

2

23 अप्रैल, 1616 को अंग्रेजी साहित्य के महान कवि और नाटककार विलियम शेक्सपियर का निधन हुआ था. हैमलेट, ऑथेलो, मैकबेथ जैसी बेहद लोकप्रिय रचनाएं लिखने वाले शेक्सपीयर आज तक के सबसे महान साहित्यकार माने जाते हैं. उनकी रचनाओं के दुनिया भर की भाषाओं में अनुवाद हुए हैं. इसके अलावा इन रचनाओं पर आधारित किताबों, थिएटर और फिल्मों का निर्माण आज तक हो रहा है.

3

23 अप्रैल, 1992 को भारतीय सिनेमा के महान निर्देशक सत्यजीत रे ने दुनिया को अलविदा कहा था. सत्यजीत रे पाथेर पांचाली, अपराजितो और अपूर संसार जैसी फिल्में जिन्हें अपू ट्रॉयलजी कहा जाता है, के लिए पहचाने जाते हैं. उन्हें ऑस्कर के लाइफ टाइम अचीवमेंट के साथ-साथ देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था.

4

23 अप्रैल, 1987 को उच्चतम न्यायालय ने विधवाओं को संपत्ति में हिस्से का निर्णय दिया था. इसके पहले तक केवल केवल बच्चों या रक्तसंबंधियों को ही सम्पत्ति में हिस्सा पाने का अधिकार था.

5

23 अप्रैल, 1995 को विश्व पुस्तक दिवस मनाने की शुरुआत हुई. इसके अलावा से विश्व कॉपीराइट दिवस के रूप में भी मनाया जाता है जिसका उद्देश्य है लिखने वालों को उनकी रचनाओं के लिए उचित नाम और सम्मान मिलना. साथ ही यह महान साहित्यकार विलियम शेक्सपीयर की पुण्यतिथि भी है, इसलिए उनके सम्मान में इस दिन को किताबों और साहित्य के नाम किया गया है.

  • सैमसंग गैलेक्सी एस20

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    सैमसंग गैलेक्सी एस20: दुनिया की सबसे अच्छी स्क्रीन वाले मोबाइल फोन्स में से एक

    ब्यूरो | 27 नवंबर 2020

    डिएगो माराडोना

    विचार-रिपोर्ट | खेल

    डिएगो माराडोना को लियोनल मेसी से ज्यादा महान क्यों माना जाता है?

    अभय शर्मा | 26 नवंबर 2020

    निसान मैग्नाइट

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या मैगनाइट बाजार को भाएगी और निसान की नैया पार लगाएगी?

    ब्यूरो | 26 नवंबर 2020

    भारतीय पुलिस

    आंकड़न | पुलिस

    पुलिस हिरासत में होने वाली 63 फीसदी मौतें 24 घंटे के भीतर ही हो जाती हैं

    ब्यूरो | 25 नवंबर 2020