सन्नी देओल

समाचार | बुलेटिन

अभिनेता सनी देओल के भाजपा में शामिल होने सहित आज के पांच बड़े समाचार

सन्नी देओल | लोकसभा चुनाव | राहुल गांधी | बिलकिस बानो | अमेरिका

ब्यूरो | 23 अप्रैल 2019 | फोटो : भाजपा / ट्विटर

1

सनी देओल भाजपा में शामिल हुए, गुरुदासपुर से चुनाव लड़ सकते हैं

चर्चित अभिनेता सनी देओल आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में उन्हें रेल मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी की औपचारिक सदस्यता दिलवाई. माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें पंजाब के गुरदासपुर से चुनावी मैदान में उतार सकती है. इस मौके पर सनी देओल ने कहा कि जिस तरह से उनके पिता धर्मेंद्र, अटल बिहारी वाजपेयी के साथ जुड़े थे, वैसे ही वे नरेंद्र मोदी से जुड़ने आए हैं. सनी देओल ने हाल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी. तभी से कयास लगाए जा रहे थे कि वे पार्टी का दामन थाम सकते हैं. देओल परिवार से राजनीति में आने वाले वे तीसरे शख्स हैं. धर्मेंद्र 2004 में भाजपा के टिकट पर बीकानेर से सांसद बने थे. उधर, हेमा मालिनी मथुरा से सांसद हैं.

2

लोकसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण में 117 सीटों पर वोट पड़े

लोकसभा चुनाव के तीसरे और सबसे बड़े चरण में आज 16 राज्यों की 117 सीटों के लिए वोटिंग हुई. इस चरण में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव और पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती सहित कई बड़े दिग्गज मैदान में हैं. 2014 में इन 115 सीटों में से 67 एनडीए को मिली थीं. उधर, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए ने 26 सीटों पर कब्जा किया था. आज ही ओडिशा विधानसभा की 147 में से 42 सीटों के लिए भी वोटिंग हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपना वोट डालने के लिए गुजरात के अहमदाबाद पहुंचे. इस दौरान उन्होंने युवा मतदाताओं से ज्यादा से ज्यादा संख्या में वोट डालने की अपील की. प्रधानमंत्री का ये भी कहना था कि लोकतंत्र के इस महान पर्व में वोट कर उन्हें पवित्रता की अनुभूति हुई है. उधर, वोटिंग के दौरान कई जगहों से हिंसा की खबरें भी आईं. पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

3

राहुल गांधी को रफाल मामले में सुप्रीम कोर्ट से आपराधिक अवमानना का नोटिस मिला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सुप्रीम कोर्ट ने झटका दिया है. शीर्ष अदालत ने रफाल मामले में उनके एक बयान पर उन्हें आपराधिक अवमानना का नोटिस जारी किया है. अदालत ने ये मामला ख़त्म करने का राहुल गांधी का अनुरोध भी ठुकरा दिया. अदालत ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने गलत तरीके से सुप्रीम कोर्ट का हवाला दिया है. मामले की अगली सुनवाई 30 अप्रैल को होगी. इससे पहले सोमवार को राहुल गांधी ने अदालत में ख़ेद जताया था. कांग्रेस अध्यक्ष का कहना था कि उन्होंने चुनाव अभियान की गर्मी में वह बयान दिया था. कुछ समय पहले सुप्रीम कोर्ट ने सरकार की दलील खारिज करते हुए रफाल मामले में एक पुनर्विचार याचिका स्वीकार कर ली थी. इसके बाद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था. उनका कहना था कि अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया है कि चौकीदार चोर है.

4

गुजरात दंगों की पीड़िता बिलकिस बानो को 50 लाख रु का मुआवजा और सरकारी नौकरी देने का आदेश

2002 में हुए गुजरात दंगों के दौरान सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुईं बिलकिस बानो को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत दी है. शीर्ष अदालत ने गुजरात सरकार से कहा है कि बिलकिस बानो को 50 लाख रुपए का मुआवज़ा दिया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें रहने के लिए घर और एक सरकारी नौकरी दिए जाने का भी आदेश दिया है. शीर्ष अदालत ने राज्य सरकार को इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने को भी कहा. इन्हें बॉम्बे हाई कोर्ट ने जांच में गड़बड़ी का दोषी माना था. सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों पर कार्रवाई के लिए राज्य सरकार को दो हफ्ते का समय दिया है. 2002 के जब दंगाइयों ने 21 साल की बिलकिस बानो पर हमला किया तो वे पांच माह की गर्भवती थीं.

5

ईरान से तेल ख़रीद रहे भारत सहित पांच देशों को अब प्रतिबंधों से रियायत नहीं मिलेगी : अमेरिका

अमेरिका ने अभी भी ईरान से तेल ख़रीद रहे देशों के लिए प्रतिबंधों से रियायतें ख़त्म करने का फ़ैसला लिया है. एक बयान में व्हाइट हाउस ने कहा कि चीन, भारत, जापान, दक्षिण कोरिया और तुर्की को दी गई ये छूट अगले महीने यानी मई में खत्म हो जाएगी. इसके बाद भी अगर इन देशों ने ईरान से तेल लेना जारी रखा तो उन पर अमेरिकी आर्थिक प्रतिबंध लागू हो जाएंगे. अमेरिका ने ये फ़ैसला ईरान के तेल निर्यात को शून्य पर लाने के लिए किया है. बीते साल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान और छह पश्चिमी देशों के बीच हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते से खुद को अलग कर लिया था. उन्होंने इस समझौते को अमेरिका के लिए घाटे का सौदा बताया था. इसके बाद डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर नए समझौते का दबाव बनाने के लिए उस फिर से आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे.

  • इंटरनेट कम्प्यूटर सेक्योरिटी

    समाचार | इंटरनेट

    क्या आपको इंटरनेट की दुनिया में सुरक्षित रहना आता है?

    संजय दुबे | 01 अप्रैल 2020

    शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019