रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन

समाचार | बुलेटिन

आज – 04 जनवरी – के पांच प्रमुख समाचार

रफाल सौदे पर लोकसभा में जुबानी जंग | एनआरसी को लेकर नरेंद्र मोदी का आश्वासन | अयोध्या मामले की सुनवाई | अजय माकन | अंगेला मेर्कल हैकिंग की शिकार

ब्यूरो | 04 जनवरी 2019 | फोटो: पीआईबी

1

रफाल सौदे को लेकर केंद्र सरकार और विपक्षी कांग्रेस के बीच जुबानी जंग

रफाल सौदे को लेकर केंद्र सरकार और विपक्षी कांग्रेस के बीच जुबानी जंग जारी है. शुक्रवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मामले में सरकार पर लगाए जा रहे आरोपों को खारिज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा. लोकसभा में रक्षा मंत्री ने कहा कि बोफोर्स कांग्रेस सरकार को ले डूबा, लेकिन रफाल नरेंद्र मोदी को फिर सत्ता में लेकर आएगा. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने पिछली यूपीए सरकार की तुलना में कहीं बेहतर सौदा किया है और कांग्रेस इस मामले में झूठ बोलकर देश को गुमराह कर रही है. निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर राष्ट्रीय सुरक्षा की परवाह न करने का आरोप भी लगाया. उधर, राहुल गांधी ने भी निर्मला सीतारमण के आरोपों पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री ने भाषण लंबा दिया, लेकिन उनके एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया. राहुल गांधी का कहना था कि अनिल अंबानी की कंपनी सौदे में साझेदार कैसे बनी, रक्षा मंत्री को ये बताना चाहिए. उन्होंने ये भी कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो रफाल सौदे की जांच होगी और दोषियों को सजा मिलेगी. राहुल गांधी इस मामले में सीधे प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं.

2

नरेंद्र मोदी: एनआरसी से किसी भी भारतीय को बाहर नहीं रहने दिया जाएगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस यानी एनआरसी से किसी भी भारतीय को बाहर नहीं रहने दिया जाएगा. उन्होंने ये बात शुक्रवार को असम के सिल्चर में आयोजित एक रैली मे कही. प्रधानमंत्री ने कहा कि इस कवायद की वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है, लेकिन कई दशकों से अटका ये काम अब अपने अंतिम दौर में है. एनआरसी का उद्देश्य असम में भारत के वास्तविक नागरिकों और वहां गैर-कानूनी ढंग से रह रहे लोगों की पहचान करना है. नियमों के तहत 25 मार्च, 1971 से पहले बांग्लादेश से असम आने वाले लोगों को स्थानीय नागरिक माना जाएगा.

3

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में सुनवाई की तारीख का ऐलान किया

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में सुनवाई की तारीख का ऐलान कर दिया है. शीर्ष अदालत इस मामले की सुनवाई 10 जनवरी से शुरू करेगी. मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने शुक्रवार को कहा कि अगली सुनवाई नई बेंच करेगी. इस मामले में शीर्ष अदालत में 14 याचिकाएं लगी हुई हैं. ये याचिकाएं इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के ख़िलाफ़ अपील के तौर पर आई हैं. हाई कोर्ट ने 2010 में अयोध्या की विवादित ज़मीन के तीन हिस्से करने का आदेश दिया था. इसमें से एक हिस्सा- निर्मोही अखाड़ा, दूसरा राम लला और तीसरा सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को देने को कहा गया था. ये तीनों ही इस मामले में मुख्य पक्षकार हैं.

4

कांग्रेस की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अजय माकन का इस्तीफा 

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अजय माकन ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने शुक्रवार को एक ट्वीट कर इसकी पुष्टि की. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. माना जा रहा है कि अजय माकन अब केंद्रीय राजनीति में दिखाई देंगे और वे लोकसभा चुनाव भी लड़ सकते हैं. उन्हें 2015 में विधानसभा चुनाव के बाद दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. तीन महीने पहले भी अजय माकन के इस्तीफे की खबरें आई थीं. हालांकि तब पार्टी ने इनका खंडन किया था.

5

जर्मनी में अंगेला मेर्कल सहित कई नेताओं का संवेदनशील डेटा हैकिंग का शिकार

जर्मनी में हैकिंग का एक बड़ा मामला सामने आया है. हैकरों ने चांसलर अंगेला मेर्कल सहित कई नेताओं और दूसरी हस्तियों से जुड़ी निजी जानकारियां सार्वजनिक कर दी हैं. बताया जा रहा है कि इनमें. फोन नंबर, पार्टी की अंदरूनी बातचीत, निजी तस्वीरें और क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट जैसी जानकारियां शामिल हैं. ये डेटा एक ट्विटर हैंडल से जारी किया गया है. इसे देश के इतिहास में हैकिंग के सबसे बड़े मामलों में से एक कहा जा रहा है. लगभग सभी पार्टियों के नेता इसका शिकार हुए हैं और ये जर्मन सुरक्षा एजेंसियों के लिए शर्मिंदगी का सबब बन गया है. बताया जा रहा है कि इस संवेदनशील डेटा को एक दिसंबर से ही सार्वजनिक किया जा रहा था, लेकिन उन्हें इसकी खबर शुक्रवार को ही लग सकी.

  • मुलायम सिंह मायावती

    समाचार | बुलेटिन

    24 साल बाद मायावती और मुलायम सिंह यादव के एक मंच पर आने सहित आज के पांच बड़े समाचार

    ब्यूरो | 12 घंटे पहले

    तिरंगा, भारतीय मुद्रा

    विचार | राजनीति

    क्या इलेक्टोरल बॉन्ड्स ने राजनीतिक चंदे की व्यवस्था को और भी कम पारदर्शी कर दिया है?

    ब्यूरो | 13 घंटे पहले

    हेली कॉमेट

    समाचार | आज का कल

    हेली कॉमेट को पहली बार देखे जाने सहित 19 अप्रैल को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

    ब्यूरो | 16 घंटे पहले