ताजमहल

समाचार | आज का कल

22 जनवरी को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

रानी विक्टोरिया | शाहजहां | अमेरिका | उड़ीसा | आन्द्रेई सखारोव

ब्यूरो | 22 जनवरी 2019 | फोटो: पिक्साबे

1

22 जनवरी, 1901 को महारानी विक्टोरिया का निधन हुआ था. उन्होंने 1837 में ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड की महारानी के रूप में सिंहासन संभाला और अपनी मृत्यु तक इस पर रहीं.

2

22 जनवरी, 1666 को दुनिया को ताज महल के रूप में मोहब्बत का अजीम तोहफा देने वाले मुगल बादशाह शाहजहां का निधन हुआ था. मुगल सल्तनत के पांचवें बादशाह के रूप में शाहजहां ने 1627 में अपने पिता जहांगीर की मौत के बाद गद्दी संभाली थी.

3

22 जनवरी, 1973 को अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने गर्भपात को कानूनी तौर पर मान्यता दी थी. इसे अपराध की श्रेणी से निकालते हुए अदालत ने इसे महिला की निजता का संवैधानिक अधिकार बताया.

4

22 जनवरी, 1997 को उड़ीसा के क्योंझर में उत्पाती भीड़ ने ऑस्ट्रेलियाई मिशनरी ग्राहम स्टेंस और उनके दो बेटों को जिंदा जला दिया था. इस घटना की चर्चा पूरी दुनिया में हुई दी. स्टेंस राज्य के मनोहरपुर गांव में करीब 30 वर्षों से कुष्ठ रोगियों के लिए काम कर रहे थे. लेकिन उन पर इलाके में धर्मांतरण कराने का आरोप भी लगा था. इससे गुस्साई भीड़ ने स्टेंस और उनके दो बेटों को उनकी गाड़ी पर पेट्रोल छिड़क कर जला डाला था.

5

22 जनवरी, 1980 को सोवियत संघ ने सरकार-विरोधी परमाणु वैज्ञानिक आन्द्रेई सखारोव को नज़रबंद किया गया था. नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित सखारोव ने एक अमेरिकी टेलिविजन चैनल को दिए साक्षात्कार में अफगानिस्तान से सोवियत सेनाएं वापस बुलाने की मांग की थी.

  • मायावती, बसपा

    समाचार | बयान

    आरएसएस को आरक्षण विरोधी मानसिकता छोड़ने की मायावती की सलाह सहित आज के बड़े बयान

    ब्यूरो | 6 घंटे पहले

    पी चिदंबरम

    समाचार | बुलेटिन

    ईडी द्वारा एयर इंडिया घोटाले में पी चिदंबरम को समन भेजे जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 11 घंटे पहले

    मोहन भागवत

    समाचार | अख़बार

    आरक्षण पर मोहन भागवत के अहम बयान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 19 घंटे पहले

    सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान

    विचार और रिपोर्ट | विदेश

    अनुच्छेद-370 को लेकर भारत के फैसले पर इस्लामिक देश चुप क्यों हैं?

    ब्यूरो | 18 अगस्त 2019