प्रियंका गांधी

समाचार | बुलेटिन

भाजपा की मदद के बजाय मरना पसंद करने के प्रियंका गांधी के बयान सहित आज के पांच बड़े समाचार

प्रियंका गांधी | सुप्रीम कोर्ट | मनमोहन सिंह | डीजी वंजारा | तूफान फानी

ब्यूरो | 02 जून 2019 | फोटो : inc.in

1

किसी भी तरह से भाजपा की मदद करने के बजाय मैं मर जाना पसंद करूंगी : प्रियंका गांधी वाड्रा

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने भाजपा की मदद के लिए उम्मीदवार उतारे हैं. मायावती का ये भी कहना था कि कांग्रेस और भाजपा में कोई अंतर नहीं है. उनके इस बयान पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की भी प्रतिक्रिया आई. उन्होंने कहा कि किसी भी तरह से भाजपा की मदद करने के बजाय वे मर जाना पसंद करेंगी. प्रियंका गांधी का ये भी कहना था कि वे कभी भाजपा की विभाजनकारी विचारधारा से समझौता नहीं कर सकतीं. इससे पहले बुधवार को खबर आई थी कि प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में भाजपा के वोट काटने के लिए कई जगह कमजोर उम्मीदवार खड़े करने की बात कही है. हालांकि आज कांग्रेस महासचिव ने इसका खंडन किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हर सीट पर अपनी पूरी ताकत से लड़ रही है.

2

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से नरेंद्र मोदी के खिलाफ शिकायतों का निपटारा छह मई तक करने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने आज चुनाव आयोग को आदेश दिया है कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ सभी शिकायतों पर सोमवार यानी छह मई तक फैसला करे. ये सभी शिकायतें आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़ी हैं. कांग्रेस नेता सुष्मिता देव ने शीर्ष अदालत में एक याचिका दायर की थी. इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि आयोग इन शिकायतों के निपटारे में जानबूझकर देर कर रहा है. उनका कहना था कि अभी तक इन दोनों नेताओं के खिलाफ 11 शिकायतें हुई हैं, लेकिन निपटारा सिर्फ दो का हुआ है. कांग्रेस नेता का आरोप है कि शिकायतों पर विपक्षी नेताओं के खिलाफ तुरंत कार्रवाई हो रही है, लेकिन नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ नहीं. इस पर चुनाव आयोग ने बुधवार यानी आठ मई तक सभी शिकायतों के निपटारे की संभावना जताई. उसका कहना था कि नौ मई को अदालत को इससे संबंधित रिपोर्ट सौंपी जा सकती है. हालांकि शीर्ष अदालत ने इससे इनकार कर दिया और उसे नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ सारी शिकायतों का निपटारा छह मई तक ही करने का आदेश दिया.

3

मनमोहन सिंह का भाजपा पर निशाना, सैन्य कार्रवाइयों के चुनावी इस्तेमाल को शर्मनाक बताया

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने केंद्र में सत्ताधारी भाजपा पर तीखा निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में भी कई बार सर्जिकल स्ट्राइक की कार्रवाई की गई थी, लेकिन उन्होंने कभी इसका चुनावी फायदा उठाने की कोशिश नहीं की. मनमोहन सिंह का ये भी कहना था कि भाजपा द्वारा सैन्य कार्रवाइयों का चुनावी इस्तेमाल ‘शर्मनाक और अस्वीकार्य’ है. पूर्व प्रधानमंत्री ने पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए हमले को खुफिया व्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से चिंताजनक बताया. उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में मोदी सरकार को विफल बताया. मनमोहन सिंह का कहना था कि पिछले पांच सालों में अकेले जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले 176 फीसदी बढ़ गए हैं. पूर्व प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि जीडीपी के हिसाब से रक्षा क्षेत्र के लिए खर्च पिछले 57 सालों में सबसे कम रहा है.

4

सुप्रीम कोर्ट ने इशरत जहां मामले में गुजरात पुलिस के पू्र्व अधिकारी डीजी वंजारा को आरोपमुक्त किया

सीबीआई की विशेष अदालत ने इशरत जहां फर्ज़ी मुठभेड़ मामले में गुजरात के पूर्व पुलिस अधिकारी डीजी वंजारा और एनके अमीन को आरोपमुक्त कर दिया है. गुजरात सरकार ने सीआरपीसी की धारा 197 के तहत इनके ख़िलाफ़ मुकदमा चलाने की मंज़ूरी नहीं दी थी. इसके बाद दोनों अधिकारियों ने कोर्ट से उनके ख़िलाफ़ कार्यवाही खत्म करने की अपील की थी. 2004 में गुजरात पुलिस ने एक मुठभेड़ में 19 वर्षीय इशरत जहां सहित चार लोगों को मार गिराया था. उसने इन पर आतंकियों से जुड़े होने और राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने की साज़िश रचने जैसे आरोप लगाए थे. लेकिन गुजरात हाई कोर्ट द्वारा गठित विशेष जांच दल ने इस मुठभेड़ को फर्ज़ी पाया था. इसके बाद जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी.

5

चक्रवाती तूफान फानी कल ओडिशा पहुंचेगा

चक्रवाती तूफान फानी कल ओडिशा के तट से टकरा सकता है. भीषण रूप ले चुके इस तूफान के चलते राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश और 200 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार वाली तेज़ हवाओं की आशंका है. इससे निपटने के लिए की गई तैयारियों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक उच्चस्तरीय बैठक की. इस दौरान प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस तूफान से कम से कम नुकसान सुनिश्चित करें. फानी को 1999 के बाद से ओडिशा में सबसे बड़ा तूफान कहा जा रहा है. उस तूफान में करीब 10 हजार लोगों की मौत हो गई थी. हालात के मद्देनज़र ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के 19 जिलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. नौसेना, तटरक्षक बल और एनडीआरएफ को किसी भी आपात स्थिति से निपटने को तैयार रहने के लिए कहा गया है.

  • इंटरनेट कम्प्यूटर सेक्योरिटी

    समाचार | इंटरनेट

    क्या आपको इंटरनेट की दुनिया में सुरक्षित रहना आता है?

    संजय दुबे | 01 अप्रैल 2020

    शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019