महिला और बाल मजदूर, मनरेगा

समाचार | अख़बार

ग्रामीण विकास मंत्री के मनरेगा को हमेशा नहीं चलाने के इशारे सहित आज के अखबारों की बड़ी खबरें

मनरेगा | दिल्ली | यूरोपीय कमीशन | पेट्रोल-डीजल | क्रिकेट

ब्यूरो | 18 जुलाई 2019 | फोटो: फ्लिकर

1

ग्रामीण विकास मंत्री मनरेगा को हमेशा चलाने के पक्ष में नहीं

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रोजगार गारंटी योजना-मनरेगा को लेकर बड़ा बयान दिया है. जनसत्ता में प्रकाशित खबर के मुताबिक उन्होंने कहा है कि वे हमेशा इसे चलाने के पक्षधर नहीं हैं. केंद्रीय मंत्री का आगे कहना है, ‘ये योजना (मनरेगा) गरीबों के लिए है और मोदी सरकार का लक्ष्य गरीबी को खत्म करना है.’ साथ ही, नरेंद्र सिंह तोमर ने गांवों के विकास से जुड़ी योजनाओं के बजट आवंटन में कटौती के आरोपों को खारिज किया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना हो, ग्रामीण आवास योजना हो. कहीं बजट में कटौती नहीं की गई है. जब जरूरी हुआ तब अतिरिक्त बजट आवंटित किया गया है.’ केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि मनरेगा में तो आवंटन कम करने का सवाल ही नहीं उठता है.

2

दिल्ली : साल 2014 से 2017 के बीच लापता 5,799 बच्चों की कोई खबर नहीं

दिल्ली में लापता बच्चों की संख्या साल दर साल बढ़ती जा रही है. इनमें लड़कियों की संख्या अधिक है. हिन्दुस्तान ने दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग की रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि साल 2014 से 2017 तक राष्ट्रीय राजधानी से 16,504 लड़कियां लापता हुईं. इनमें से 3,730 का अब तक सुराग हाथ नहीं लग पाया है. वहीं, इस दौरान 12,918 लापता लड़कों में से 10,849 का खोज निकाला गया. यानी इनमें से अभी भी 2,069 की कोई खबर नहीं है. आयोग की मानें तो अधिकतर लापता बच्चे प्रवासी मजदूरों के हैं. दिल्ली बाल अधिकारी संरक्षण आयोग के अध्यक्ष रमेश नेगी का इस बारे में कहना है, ‘बच्चे अपना ज्यादातर समय स्कूल में बिताते हैं. स्कूल से ही बच्चों की सुरक्षा की शुरुआत होती है. इसके लिए पुलिस को ही नहीं बल्कि, समाज के हर वर्ग को आगे आना होगा.’ वहीं, दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने इसमें पुलिस की सबसे अहम भूमिका होने की बात कही है.

3

बीते चार वर्षों में पेट्रोल-डीजल की बिक्री से होने वाली कमाई में ढाई गुने की बढ़ोतरी

बीते चार वर्षों में पेट्रोल-डीजल की ब्रिकी से होने वाली राजस्व वसूली में ढाई गुना बढ़ोतरी हुई है. अमर उजाला में छपी खबर के मुताबिक साल 2014-15 में इनकी बिक्री से केंद्र सरकार को 1.26 लाख करोड़ रुपये मिले थे. वहीं, साल 2018-19 में यह आंकड़ा बढ़कर 2.97 लाख करोड़ रुपये हो गया. इसके अलावा यदि तेल कंपनियों द्वारा सरकार को चुकाए गए आयकर, कॉरपोरेट कर, मुनाफे पर लाभांश और लाभ वितरण पर देय कर जोड़ दिया जाए तो यह रकम और बढ़ जाती है. पेट्रोलियम मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक साल 2014-15 में सरकार को इस मद में 1.72 लाख करोड़ रुपये मिले थे. यह आंकड़ा चार साल बाद यानी 2018-19 में 112 फीसदी बढ़ोतरी के साथ 3.65 लाख करोड़ रुपये हो गया. बताया जाता है कि इस अवधि के दौरान पेट्रोल-डीजल पर 10 बार केंद्रीय उत्पाद शुल्क को बढ़ाया गया है.

4

जर्मनी की मौजूदा रक्षा मंत्री उर्सुला वॉन डेर लेयेन यूरोपीय कमीशन की नई अध्यक्ष

जर्मनी की मौजूदा रक्षा मंत्री उर्सुला वॉन डेर लेयेन को यूरोपीय यूनियन (ईयू) की कार्यकारी इकाई यूरोपीय कमीशन (ईसी) का नया अध्यक्ष चुन लिया गया है. दैनिक जागरण के मुताबिक 60 वर्षीय लेयेन इस पद पर काबिज होने वाली पहली महिला हैं. वे एक नवंबर को अपना पदभार संभालेंगी. हालांकि, इससे एक दिन पहले यानी 31 अक्टूबर को ब्रिटेन ईयू से अलग हो सकता है. माना जा रहा है कि इस स्थिति में में उनका अध्यक्ष बनना और महत्वपूर्ण है. अपने चयन के बाद लेयेन ने कहा कि वे लैंगिक समानता के साथ शरणार्थियों के मुद्दे पर भी काम करेंगी. वहीं, जर्मनी की चांसलर अंगेला मेर्कल ने लेयेन को बधाई दी है. उन्होंने कहा, ‘मैं उनके सहयोग और साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं. बीते 50 साल में पहली बार जर्मनी के किसी व्यक्ति को ईसी का अध्यक्ष चुना गया है.’

5

भारतीय क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ के लिए आवेदन मांगे जाने पर बीसीसीआई के भीतर मतभेद

भारतीय क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ के लिए आवेदन मांगे जाने के कदम को बीसीसीआई के भीतर शीर्ष अधिकारियों के एक तबके ने जल्दबाजी भरा फैसला बताया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘सीओए (प्रशासकों की समिति) ने पहले कहा था कि वह कोच और कप्तान के साथ विश्व कप में भारतीय टीम के प्रदर्शन की समीक्षा करेगी. लेकिन, उसने अचानक इससे आगे जाने का फैसला किया और कोचिंग स्टाफ के लिए आवेदन मांगा लिए.’ अधिकारी ने सीओए के इस कदम को गलत बताया है. इस अधिकारी ने सवाल उठाया है कि क्या सीओए किसी खास व्यक्ति को पद पर बैठाने की अपनी इच्छा पूरी करना चाहती है? वहीं, उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि विश्व कप में टीम इंडिया के प्रदर्शन पर रिपोर्ट केवल प्रबंधक से नहीं बल्कि, प्रत्येक कोच से ली जानी चाहिए.

  • शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    भारतीय उच्चायोग

    समाचार | बुलेटिन

    कश्मीर को लेकर ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग पर पथराव होने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 04 सितंबर 2019