मुलायम सिंह मायावती

समाचार | बुलेटिन

24 साल बाद मायावती और मुलायम सिंह यादव के एक मंच पर आने सहित आज के पांच बड़े समाचार

महागठबंधन | प्रियंका चतुर्वेदी | साध्वी प्रज्ञा ठाकुर | ललित मोदी | पाकिस्तान

ब्यूरो | 19 अप्रैल 2019 | फोटो : सपा / ट्विटर

1

मायावती और मुलायम सिंह यादव 24 साल बाद एक मंच पर आए

करीब 24 साल बाद बसपा सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह शुक्रवार को एक मंच पर आए. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में हुई एक रैली में मायावती ने मुलायम सिंह को पिछड़ों का असली नेता बताया. उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह फर्ज़ी ओबीसी नहीं हैं. बसपा अध्यक्ष का कहना था कि नरेंद्र मोदी ने गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए अपनी जाति को सवर्ण से ओबीसी में शामिल करवाया था. कुछ ही दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली में अपने आपको पिछड़ी जाति का बताते हुए कांग्रेस पर हमला किया था. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस उन्हें इसलिए निशाना बना रही है कि वे पिछड़े वर्ग से हैं. मैनपुरी में हुई रैली में मायावती ने गेस्टहाउस कांड का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि इस घटना को भुलाकर दोनों पार्टियां साथ आई हैं. मायावती का कहना था कि देशहित के लिए कभी-कभी कठिन फैसले लेने पड़ते हैं.

2

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी शिव सेना में शामिल

लोकसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है. उसकी राष्ट्रीय प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफ़ा देने के कुछ ही घंटे बाद शिवसेना में शामिल हो गईं. उन्होंने शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में पार्टी का दामन थामा. प्रियंका चतुर्वेदी ने दो दिन पहले ही कांग्रेस नेतृत्व से असंतोष जताया था. वे इस बात से नाराज़ थीं कि पार्टी के उन आठ निलंबित कार्यकर्ताओं को फिर से बहाल कर दिया गया जिन्होंने कुछ समय पहले मथुरा में उनके साथ दुर्व्यवहार किया था. प्रियंका चतुर्वेदी का कहना था कि पार्टी में अपना ख़ून-पसीना देने वाले लोगों की जगह बदमाशों को प्राथमिकता दिए जाने पर उन्हें गहरा दुख हुआ है. उधर, कांग्रेस का कहना था कि इन आठों कार्यकर्ताओं ने माफी मांग ली थी.

3

हेमंत करकरे मेरे श्राप की वजह से मारे गए : साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

भोपाल लोक सभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने महाराष्ट्र एटीएस के पूर्व मुखिया हेमंत करकरे को लेकर एक विवादित बयान दिया है. एक चुनावी सभा के दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे उनके श्राप की वजह से मारे गए. हेमंत करकरे की 2008 में मुंबई पर हुए हमले के दौरान आतंकियों से लड़ते हुए मौत हो गई थी. अपनी वीरता के लिए अगले ही साल उन्हें अशोक चक्र दिया गया था. हेमंत करकरे ने साल 2006 में हुए मालेगांव बम धमाके के मामले की जांच भी की थी. इसी दौरान उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर से भी पूछताछ की थी. उधर, कांग्रेस ने प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इससे भाजपा का देश विरोधी चेहरा उजागर हुआ है.

4

ललित मोदी ने भी राहुल गांधी पर मानहानि का मुक़दमा ठोकने की धमकी दी

आईपीएल के पूर्व प्रमुख और कारोबारी ललित मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ख़िलाफ़ मानहानि का मुक़दमा दायर करने की धमकी दी है. उन्होंने कहा कि ये मुक़दमा ब्रिटेन की अदालत में दायर कराया जाएगा. राहुल गांधी ने कुछ दिन पहले एक चुनावी सभा में कहा था कि सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों होता है. राहुल गांधी ने ये बात रफाल विमान सौदे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कही थी. ललित मोदी ने कहा कि पांच दशकों तक दिन-दहाड़े भारत को किसी और ने नहीं बल्कि गांधी परिवार ने लूटा है. राहुल गांधी के इस बयान पर बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील मोदी पहले ही मानहानि का मुक़दमा दर्ज़ करा चुके हैं.

5

पाकिस्तान ने मसूद अज़हर के मामले में किसी के भी दबाव में न आने की बात कही

पाकिस्तान ने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर पर प्रतिबंध लगाने के मामले में वो किसी के भी दबाव में नहीं आएगा. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि इसे लेकर उनके देश का रुख साफ है. उनका कहना था कि पाकिस्तान जो भी निर्णय करेगा वो अपने हितों को देखते हुए करेगा. अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने के मामले में चीन ने तकनीकी रोक लगा रखी है. मसूद अज़हर के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने बीती 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी. सीआरपीएफ के काफिले पर हुए इस हमले में 44 जवान शहीद हो गए थे.

  • इंटरनेट कम्प्यूटर सेक्योरिटी

    समाचार | इंटरनेट

    क्या आपको इंटरनेट की दुनिया में सुरक्षित रहना आता है?

    संजय दुबे | 01 अप्रैल 2020

    शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019