जस्टिस कुरियन जोसेफ

समाचार | न्यायपालिका

ऐसा लग रहा था मानो मुख्य न्यायाधीश को कोई कंट्रोल कर रहा है – जस्टिस कुरियन जोसेफ

सुप्रीम कोर्ट से हाल ही में रिटायर हुए जस्टिस कुरियन जोसेफ ने यह बात कुछ समय पहले शीर्ष अदालत के चार जजों की असाधारण प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर कही है

ब्यूरो | 04 दिसंबर 2018 | फोटो: विकीमीडिया कॉमंस

1

हाल ही में रिटायर हुए सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस कुरियन जोसेफ ने कहा है कि उन समेत शीर्ष अदालत के चार जजों ने इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का फैसला किया क्योंकि उन्हें लग रहा था कि तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा को कोई बाहर से कंट्रोल कर रहा है

2

द टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में जस्टिस कुरियन जोसेफ ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट की कार्यशैली पर बाहरी प्रभाव के कई उदाहरण दिख रहे थे. जैसे मामले कुछ चुनिंदा जजों की बेंचों को सौंपे जा रहे थे और सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट में हो रही जजों की नियुक्तियों से भी यह लग रहा था.’

3

जस्टिस कुरियन जोसेफ ने ये भी कहा कि ‘हम उनसे (तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश) मिले, उनसे यह बात पूछी, उन्हें चिट्ठी भी लिखी कि वे सुप्रीम कोर्ट की स्वतंत्रता और गरिमा बनाए रखें. जब सारी कोशिशें असफल हो गईं तो हमने प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का फैसला किया.’

4

जस्टिस कुरियन जोसेफ सहित सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों ने इसी साल 12 जनवरी को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इसमें उन्होंने तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए न्यायपालिका को बचाने की गुहार लगाई थी.

5

यह प्रेस कॉन्फ्रेंस अभूतपूर्व थी. स्वतंत्र भारत और सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार शीर्ष अदालत के चार वरिष्ठतम जजों ने पूरे देश से सुप्रीम कोर्ट को बचाने की अपील की थी.

(द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट पर आधारित)

  • सहारा रेगिस्तान

    समाचार | आज का कल

    सहारा रेगिस्तान में बर्फबारी सहित 18 फरवरी को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

    ब्यूरो | 3 घंटे पहले

    मीरवाइज उमर फारुक

    समाचार | अख़बार

    कश्मीरी अगगाववादियों की सुरक्षा वापस लिए जाने सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 11 घंटे पहले

    नरेंद्र मोदी

    समाचार | अख़बार

    पुलवामा हमले पर सर्वदलीय बैठक सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 16 फरवरी 2019