पीयूष गोयल

समाचार | बुलेटिन

अंतरिम बजट में किसान और मध्यम वर्ग के लिए बड़े ऐलान किए जाने सहित आज के पांच प्रमुख समाचार

अंतरिम बजट | नरेंद्र मोदी | मूडीज | ईवीएम | अमेरिका

ब्यूरो | 01 फरवरी 2019 | फोटो : पीआईबी

1

आम चुनाव से पहले मोदी सरकार का आखिरी बजट, किसान, मध्यम वर्ग और कामगारों के लिए बड़े ऐलान

शुक्रवार को मौजूदा केंद्र सरकार ने अपना आख़िरी बजट पेश किया. इसमें केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने इसमें किसानों, कामगारों और मध्यम वर्ग के लिए कई अहम घोषणाएं कीं. किसान सम्मान निधि के तहत वित्त मंत्री ने छोटे किसानों को सालाना छह हजार रुपये की न्यूनतम सहायता देने का प्रस्ताव किया. उन्होंने कहा कि इससे दो हेक्टेयर से कम जमीन वाले 12 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे. साथ ही उन्होंने पांच लाख रुपए तक की सालाना आय को टैक्स फ्री करने का भी ऐलान किया. वित्त मंत्री ने असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए पेंशन योजना भी शुरू करने की बात कही. इसके तहत 60 साल की उम्र के बाद उन्हें हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन मिलेगी. अंतरिम बजट में रक्षा क्षेत्र के लिए पहली बार तीन लाख करोड़ रु से ज्यादा का प्रावधान किया गया है. इसी तरह रेलवे को 1.58 लाख करोड़ रुपए दिए गए हैं.

2

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट को सबका ध्यान रखने वाला बताया, विपक्ष ने सिर्फ चुनावी कवायद करार दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बजट को सबका ध्यान रखने वाला बताया है. उन्होंने कहा कि ये गरीब को शक्ति, किसान को मज़बूती और अर्थव्यवस्था को नया बल देगा. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अंतरिम बजट को ऐतिहासिक बताया. भाजपा की सहयोगी एलजेपी के मुखिया रामविलास पासवान ने कहा कि ये मोदी सरकार की दूसरी सर्जिकल स्ट्राइक है. उधर, विपक्षी कांग्रेस ने इसकी आलोचना की है. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे मोदी सरकार का आखिरी जुमला बजट करार दिया. उन्होने कहा कि सरकार ने बजट में किसानों के लिए जिस रकम की बात की है वो बहुत कम है. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि किसान को महज 17 रुपये प्रतिदिन की राहत उसका अपमान है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस अंतरिम बजट को चुनावी बजट कहा है.

3

मूडीज़ ने अंतरिम बजट को नकारात्मक बताया, कहा – सिर्फ खर्च की बात, आमदनी बढ़ाने की नहीं

चर्चित अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज ने अंतरिम बजट को क्रेडिट यानी साख की दृष्टि से नकारात्मक बताया है. उसने कहा कि भारत लगातार चार वर्षों से राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को पाने से चूक रहा है. मूडीज के मुताबिक इस बजट के चलते इस बार भी राजकोषीय घाटे के निर्धारित लक्ष्य को पाना मुश्किल होगा. उसके मुताबिक इसमें सिर्फ खर्च की बात की गई है, आमदनी बढ़ाने की नहीं. उधर, उद्योग जगत ने इस बजट की तारीफ की है. महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने कहा कि इसमें अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाए बगैर मध्य वर्ग और किसानों को राहत दी गई है. गोदरेज इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष नादिर गोदरेज ने भी इस बजट से सबको फायदा मिलने की बात कही है.

4

ईवीएम में छेड़छाड़ के मुद्दे पर विपक्षी दलों की बैठक, सोमवार को चुनाव आयोग के पास जाएंगे

ईवीएम में छेड़छाड़ का मुद्दा फिर सुर्खियों में आ गया है. शुक्रवार को इसे लेकर दिल्ली में विपक्षी दलों की एक बैठक हुई. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और एनसीपी के मुखिया शरद पवार सहित तमाम बड़े विपक्षी नेता शामिल हुए. इन दलों ने एक बार फिर आगामी आम चुनाव बैलेट पेपर के जरिये कराए जाने की मांग की है. बैठक के बाद राहुल गांधी ने कहा कि वे ईवीएम के गलत इस्तेमाल की आशंका से चिंतित हैं. उनका ये भी कहना था कि सोमवार को विपक्षी दलों के नेता चुनाव आयोग के पास जाएंगे. विपक्षी दलों की तरफ से यह मांग पहले भी की जा चुकी है जिसे चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया था.

5

अमेरिका में कई दशकों की सबसे भीषण ठंड, अब तक 21 लोगों की मौत

अमेरिका में कई दशकों की सबसे भीषण ठंड से अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है. देश के नौ करोड़ से भी ज्यादा लोग शून्य से कई डिग्री नीचे तापमान में रहने को मजबूर हैं. यहां के स्कूल, कारोबार और सरकारी कामकाज ठप हैं और सैकड़ों फ्लाइट्स रद्द कर दी गई हैं. हालात ऐसे हैं कि कई राज्यों ने आपातकाल घोषित कर दिया है. लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी गई है. इस असामान्य ठंड की वजह पोलर वोर्टेक्स यानी ध्रुवीय तूफान को बताया जा रहा है.

  • अवेंजर्स एंडगेम

    खरा-खोटा | सिनेमा

    अवेंजर्स एंडगेम: एक ऐसी सुपरहीरो कथा जो जितना रोमांचित करती है, उतना ही भावुक भी

    ब्यूरो | 58 मिनट पहले

    नरेंद्र मोदी और अक्षय कुमार

    विचार | राजनीति

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘गैर-राजनीतिक’ इंटरव्यू से जुड़ी पांच राजनीतिक बातें

    अंजलि मिश्रा | 4 घंटे पहले

    महिला सैनिक

    समाचार | अख़बार

    मिलिट्री पुलिस में पहली बार महिलाओं की भर्ती सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 6 घंटे पहले