मोहन भागवत

समाचार | अख़बार

आरक्षण पर मोहन भागवत के अहम बयान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

राजस्थान पत्रिका | नवभारत टाइम्स | अमर उजाला | दैनिक जागरण | हिंदुस्तान

ब्यूरो | 19 अगस्त 2019 | फोटो: यूट्यूब

1

जैसे पिछले पांच साल लड़ा, उससे 10 गुना अधिक ताकत से लडूंगा : राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अब पार्टी को मजबूत करने के लिए जमीनी स्तर पर काम करेंगे. राजस्थान पत्रिका ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि वे अब पूरे देश का दौरा कर नए सिरे से कांग्रेस के संगठन को खड़ा करेंगे. बताया जाता है कि पार्टी पदाधिकारियों के साथ हुई उनकी एक अनौपचारिक बैठक में इस योजना पर चर्चा हुई. पार्टी का मानना है कि वरिष्ठ नेता सभी समुदायों को भरोसे में लेने में कामयाब नहीं हो पाए जिसका कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ा है. राहुल गांधी ने ट्विटर पर एक वीडियो भी शेयर किया है. इसमें वे कह रहे हैं, ‘ये विचारधारा की लड़ाई है. मैं गरीबों के साथ खड़ा हूं. आक्रमण हो रहा है. मजा आ रहा है. जैसे पिछले पांच साल लड़ा, उससे 10 गुना अधिक ताकत से लडूंगा.’ अखबार की रिपोर्ट की मानें तो इस काम में राहुल गांधी के साथ कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष और नेता (विपक्ष) शामिल होंगे.

2

‘न्यायाधीश के सामने जिस तरह के सबूत पेश किए जाते हैं, उसी के मुताबिक उसे फैसला लेना होता है’

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश धनंजय चंद्रचूड़ ने पहलू खान मामले में आरोपितों को बरी किए जाने को लेकर अहम टिप्पणी की है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘न्यायाधीश के लिए सबसे बड़ी मुसीबत यह है कि उसके सामने जिस तरह के सबूत पेश किए जाते हैं, उसी के मुताबिक उसे फैसला लेना होता है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘और तब आप पाते हैं कि पुलिस की ओर से की गई जांच बेहद अपर्याप्त है. यह जानबूझकर या अक्षम होने के चलते हुआ है, जो आगे चलकर आरोपित के बरी होने का कारण बनेगी.’ शीर्ष अदालत के न्यायाधीश का मानना है कि ऐसे मामले जिनकी जांच अदालत की निगरानी में हुई है, उनके नतीजे बेहतर आए हैं. इसके लिए उन्होंने कठुआ बलात्कार मामले का उदाहरण दिया.लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि अदालत की निगरानी में जांच के मामले सीमित होते हैं.

3

जम्मू में मोबाइल और इंटरनेट सेवा फिर बंद

जम्मू के पांच जिलों में रविवार को मोबाइल और इंटरनेट सेवा फिर से बंद कर दी गई. इससे पहले शुक्रवार को हालात सामान्य होने के बाद प्रशासन ने जम्मू, रियासी, सांबा, कठुआ और ऊधमपुर में इन सेवाओं को बहाल किया था. दैनिक जागरण के मुताबिक प्रशासन ने बताया कि तकनीकी कारणों से मोबाइल और इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है. जम्मू के डिविजनल कमिश्नर संजीव वर्मा ने कहा, ‘शुक्रवार देर रात 2जी सेवा शुरू की गई. इससे ट्रैफिक ओवरलोड होने से मोबाइल सेवा बंद हो गई. प्रशासन ने मोबाइल कंपनियों को 2जी सेवा बंद करने का कोई आदेश नहीं दिया है.’ साथ ही, उन्होंने साफ किया कि जम्मू में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है. हालांकि, डिप्टी कमिश्नर सुषमा चौहान ने फेसबुक पर इससे अलग बयान जारी किया है. इसमें उन्होंने कहा है कि अफवाहों पर अंकुश लगाने के लिए ऐसा किया गया. हालांकि बाद में सुषमा चौहान ने भी कहा कि तकनीकी वजह से मोबाइल और इंटरनेट सेवा को बंद किया गया. उन्होंने इन सेवाओं के दोबारा शुरू होने में दो-तीन दिन लगने की बात कही है.

4

संघ प्रमुख ने आरक्षण पर चर्चा की पैरवी की

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने एक बार फिर आरक्षण पर चर्चा की पैरवी की है. अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक उन्होंने रविवार को एक कार्यक्रम में कहा, ‘जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके खिलाफ हैं. उन्हें सौहार्दपूर्ण वातावरण में विचार-विमर्श करना चाहिए.’ मोहन भागवत ने आगे कहा कि उन्होंने आरक्षण पर पहले भी बात की थी. लेकिन, उस वक्त इस पर काफी बवाल मचा था और पूरा विमर्श असली मुद्दे से भटक गया था. संघ प्रमुख ने कहा, ‘आरक्षण पर बहस का परिणाम हर बार तीव्र क्रिया और प्रतिक्रिया के रूप में देखा गया है. इस पर अलग-अलग वर्गों में सौहार्द बनाने की जरूरत है. इससे पहले साल 2015 में बिहार चुनाव से पहले मोहन भागवत ने आरक्षण की समीक्षा की पैरवी की थी.

5

लैटिन अमेरिका और कैरेबियाई देशों में 3.9 करोड़ लोग भुखमरी से पीड़ित

लैटिन अमेरिका और कैरेबियाई देशों में भुखमरी से पीड़ित लोगों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. हिन्दुस्तान ने संयुक्त राष्ट्र की फूड और एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन (एफएओ) की एक रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि इस क्षेत्र में 3.9 करोड़ लोग भुखमरी के शिकार हैं. संगठन की प्रतिनिधि ईवी क्राउली ने एक इंटरव्यू में इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘इस क्षेत्र में और दुनियाभर में दशकों से भुखमरी में गिरावट आ रही थी. लेकिन, अब हम यहां इसमें बढ़ोतरी देख रहे हैं.’ ईवी क्राउली ने भूखमरी को चिंताजनक प्रवृति बताया है.

  • शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    भारतीय उच्चायोग

    समाचार | बुलेटिन

    कश्मीर को लेकर ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग पर पथराव होने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 04 सितंबर 2019