शक्तिकांत दास

समाचार | बयान

शक्तिकांत दास द्वारा मंदी की बात स्वीकार किए जाने सहित आज के बड़े बयान

शक्तिकांत दास | जितेंद्र सिंह | सौरव गांगुली | अजीत डोभाल | फवाद चौधरी

ब्यूरो | 07 अगस्त 2019 | फोटो: पीआईबी

1

‘भारतीय अर्थव्यवस्था में दिख रही मंदी संस्थागत नहीं बल्कि चक्रीय कारणों से है.’

— शक्तिकांत दास, रिजर्व बैंक के गवर्नर

शक्तिकांत दास ने यह बात मौद्रिक समीक्षा के बाद रेपो दर में 0.35 फीसदी की कटौती की घोषणा करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि सुस्त पड़ रही आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए सरकार प्रभावी कदम उठाएगी.’ इस मौके पर शक्तिकांत दास ने यह भी कहा, ‘पिछली तीन मौद्रिक समीक्षाओं के दौरान हमने नीतिगत ब्याज दरों में कुल 0.75 प्रतिशत की कटौती की है. लेकिन बैंकों ने इस दौरान ग्राहकों तक कर्ज पर ब्याज में 0.29 फीसदी की कमी का लाभ ही पहुंचाया है.’

2

‘धारा 370 पर सरकार का फैसला जम्मू-कश्मीर के लिए नई सुबह साबित होने जा रहा है.’

— जितेंद्र सिंह, केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री

जितेंद्र सिंह ने यह बात पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘धारा 370 के ज्यादातर प्रावधानों के खत्म होने से जम्मू-कश्मीर के युवाओं की आकांक्षाएं जागृत हुई हैं. इससे उनके लिए अनेक नए अवसर भी खुले हैं.’ इस मौके पर जितेंद्र सिंह का यह भी कहना था, ‘यह अवसर जम्मू-कश्मीर के हर नौजवान के लिए बिना किसी धौंस और हस्तक्षेप के एक समान रूप से उपलब्ध होंगे.’

3

‘आपकी रक्षा और सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है.’

— अजीत डोभाल, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

अजीत डोभाल ने यह बात दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में स्थानीय लोगों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने उनसे सब कुछ ठीक हो जाने की बात भी कही. उन्होंने कहा, ‘आप चिंता न करें आपके साथ आपके बच्चे और उनके भी बच्चे यहीं रहेंगे और देश-दुनिया में नाम रोशन करेंगे.’ इस मौके पर अजीत डोभाल ने सुरक्षा बलों से भी अलग से बातचीत की. साथ ही कहा, ‘आप सुनिश्चित करें कि जरूरी चीजों और आपातकालीन सेवाओं को लेकर किसी स्थानीय व्यक्ति को असुविधा का सामना न करना पड़े.’

4

‘हमें अपमान और युद्ध में से किसी एक को चुनना होगा.’ 

— फवाद चौधरी, पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री

फवाद चौधरी ने यह बात अपने देश की संसद में कश्मीर की स्थिति पर चर्चा के लिए बुलाए गए संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हमें युद्धों से डरना नहीं चाहिए. युद्ध सम्मान के लिए लड़े जाते हैं न कि हारने या जीतने के लिए.’ इस मौके पर फवाद चौधरी ने भारत के साथ राजनयिक संबंधों को तोड़ने की वकालत भी की थी. उनका कहना था, ‘जब भारत-पाकिस्तान के बीच राजनयिक संबंध ही नहीं तो हमारे राजदूत वहां क्या कर रहे हैं.’

5

‘भारतीय ​क्रिकेट को भगवान ही बचाए.’ 

— सौरव गांगुली, पूर्व क्रिकेटर

सौरव गांगुली ने यह बात एक ट्वीट के जरिये भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की तरफ से पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ को भेजे गए एक नोटिस पर कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘भारतीय क्रिकेट में हितों के टकराव के तौर पर एक नया फैशन चल रहा है. यह खबरों में बने रहने का माध्यम है.’ इसी बीच सौरव गांगुली के इस ट्वीट को हरभजन सिंह ने रीट्वीट करके कहा है, ‘राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गज क्रिकेटर को नोटिस भेजना, उनका अपमान करने के समान है.’

  • शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    भारतीय उच्चायोग

    समाचार | बुलेटिन

    कश्मीर को लेकर ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग पर पथराव होने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 04 सितंबर 2019