गृहमंत्री अमित शाह

समाचार | बयान

अमित शाह द्वारा आतंकवाद से निपटने के लिए कठोर कानून को जरूरी बताए जाने सहित आज के बड़े बयान

अमित शाह | कमलनाथ | राजनाथ सिंह | इमरान खान | सौरव गांगुली

ब्यूरो | 24 जुलाई 2019 | फोटो : भाजपा / ट्विटर

1

‘आतंकवाद से निपटने के लिए कठोर कानून आवश्यक है.’

— अमित शाह, गृह मंत्री

अमित शाह ने यह बात लोकसभा में गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम संशोधन (यूएपीए) विधेयक पर सरकार का पक्ष रखते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘आतंकवाद बंदूक से नहीं बल्कि प्रचार और उन्माद से पैदा होता है. ऐसा करने वालों को आतंकी घोषित किया जाता है तो इससे किसी को क्या आपत्ति हो सकती है.’ इस मौके पर अमित शाह ने यह भी कहा, ‘जब किसी को आतंकी संगठन घोषित किया जाता है तो आतंकवादी उसे बंद करके दूसरा संगठन शुरू कर देता है. इससे निपटने के लिए भी इस कानून की जरूरत है.’

2

‘भाजपा को मेरी सरकार की स्थिरता पर शक है तो आज ही सदन में अविश्वास प्रस्ताव लाए.’  

— कमलनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री

कमलनाथ ने यह बात मध्य प्रदेश विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गोपाल भार्गव के एक बयान पर पलटवार करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘इस संबंध में आप हर रोज ढोलकी बजाते रहेंगे लेकिन मैं बता दूं कि हमारे विधायक बिकाऊ नहीं है.’ कमलनाथ ने आगे कहा, ‘मेरी सरकार पूरे पांच साल चलेगी.’ इससे पहले गोपाल भार्गव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का नाम लिए बगैर कहा था, ‘यदि हमारे नंबर एक और नंबर दो नेताओं का आदेश हुआ तो कमलनाथ की सरकार 24 घंटे भी नहीं चलेगी.’

3

‘कश्मीर को लेकर मध्यस्थता स्वीकार करने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता.’

— राजनाथ सिंह, गृह मंत्री

राजनाथ ​सिंह ने यह बात लोकसभा में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक बयान पर सरकार की तरफ से स्पष्टीकरण देते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘देश के आत्मसम्मान के साथ हम कभी कोई समझौता नहीं कर सकते.’ इस मौके पर राजनाथ सिंह का यह भी कहना था, ‘जी-20 सम्मेलन के दौरान जापान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात हुई थी लेकिन दोनों नेताओं के बीच कश्मीर को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई.’ इससे पहले बीते सोमवार को ट्रंप ने कहा था कि कश्मीर मसले को सुलझाने के लिए नरेंद्र मोदी ने उनसे मदद मांगी थी.

4

‘पाकिस्तान में 40 अलग-अलग आतंकवादी समूह सक्रिय थे.’ 

— इमरान खान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

इमरान खान ने यह बात अमेरिका में एक कार्यक्रम के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बीते 15 सालों के दौरान आतंकवादियों को लेकर उनके देश की सरकारों ने अमेरिका को सच नहीं बताया. इस मौके पर इमरान खान ने यह भी कहा, ‘पाकिस्तान में कोई तालिबानी आतंकवाद नहीं था और साथ ही पाकिस्तान को 9/11 से भी कोई लेना-देना नहीं था.’ उनका यह भी कहना था, ‘आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान, अमेरिका की लड़ाई लड़ रहा है.’

5

‘क्रिकेट के हर फॉर्मेट के लिए भारतीय टीम में फिट खिलाड़ी होने चाहिए.’

— सौरव गांगुली, पूर्व क्रिकेटर

सौरव गांगुली ने यह बात एक ट्वीट के जरिये भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं पर सवाल खड़े करते हुए कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘हर खिलाड़ी को खुश करने के बजाय निरंतरता जरूरी है. इससे टीम की ताल भी कायम रहेगी और खुद पर उसका विश्वास भी बना रहेगा.’ इसके साथ ही वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुनी गई टीम में शुभमन गिल को जगह न मिलने पर सौरव गांगुली ने हैरानगी जताई है.

  • शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    भारतीय उच्चायोग

    समाचार | बुलेटिन

    कश्मीर को लेकर ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग पर पथराव होने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 04 सितंबर 2019