आलोक वर्मा

समाचार | बुलेटिन

आलोक वर्मा के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी सहित आज के पांच प्रमुख समाचार

आलोक वर्मा | नीति आयोग | मायावती | उपचुनाव | क्रिकेट

ब्यूरो | 31 जनवरी 2019 | फोटो: यूट्यूब

1

आलोक वर्मा के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी, सरकारी आदेश न मानने का आरोप

सीबीआई के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ केंद्र सरकार कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. बताया जा रहा है कि इसके तहत उन्हें रिटायरमेंट के बाद मिलने वाले पेंशन जैसे लाभ रोके जा सकते हैं. आलोक वर्मा के खिलाफ ये कार्रवाई सरकारी आदेश न मानने के लिए की जाएगी. इस आदेश में उन्हें सीबीआई से हटाकर फायर सर्विसेज, सिविल डिफेंस और होम गार्ड्स का महानिदेशक बना दिया गया था. लेकिन आलोक वर्मा ने नई जिम्मेदारी संभालने के बजाय सरकार को इस्तीफा भेज दिया था. इस्तीफे की चिट्ठी में उन्होंने कहा था कि वे पहले ही सेवानिवृत्ति की उम्र पार कर चुके हैं.

2

बेरोजगारी 45 साल में सबसे ज्यादा बताती रिपोर्ट पर नीति आयोग की सफाई, कहा – आंकड़े फाइनल नहीं

रोजगार की हालत पिछले 45 साल में सबसे खराब बताने वाली एक कथित रिपोर्ट को लेकर मोदी सरकार बैकफुट पर आती दिख रही है. नीति आयोग ने सफाई दी है कि सरकार ने ऐसी कोई रिपोर्ट जारी नहीं की है. आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा है कि रोजगार को लेकर अभी आंकड़े तैयार हो रहे हैं जिनके फाइनल होने पर ही संबंधित रिपोर्ट जारी होगी. उधर, विपक्षी दलों का आरोप है कि नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस की ये रिपोर्ट केंद्र सरकार छिपा रही है. इससे पहले 28 जनवरी को खबर आई थी कि इस रिपोर्ट को सार्वजनिक न किए जाने के चलते राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के दो सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है.

3

बसपा प्रमुख मायावती से जुड़े सात ठिकानों पर ईडी के छापे

प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती से जुड़े सात ठिकानों पर छापे मारे. संभावना जताई जा रही है कि इस कार्रवाई के बाद अब उनसे पूछताछ भी की जा सकती है. मायावती पर उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रहते हुए 114 करोड़ रुपए का घोटाला करने का आरोप है. मायावती जब मुख्यमंत्री थी तब उन्होंने राज्य में कई जगह बसपा के चुनाव चिन्ह हाथी के साथ-साथ पार्टी संस्थापक कांशीराम और ख़ुद की प्रतिमाएं लगवाई थीं. इन पर 1,400 करोड़ रुपए ख़र्च हुए थे. बताया जाता है कि ये घोटाला इसी दौरान हुआ था. बसपा के साथ हाथ मिला चुके समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी इन दिनों केंद्रीय एजेंसियों के निशाने पर हैं.

4

हरियाणा के जींद उपचुनाव में भाजपा की जीत

प्रतिष्ठा की बात बन गए जींद विधानसभा सीट के उपचुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने जीत हासिल की है. पार्टी उम्मीदवार कृष्ण मिड्‌ढा ने अपने नज़दीकी प्रत्याशी जननायक जनता पार्टी के दिग्विजय चौटाला को 12 हजार से ज्यादा वोटों से हरा दिया. कांग्रेस ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला को उतारकर ये मुकाबला रोचक बनाने की कोशिश की थी. लेकिन वे तीसरे स्थान पर रहे. ये सीट कृष्ण मिड्‌ढा के पिता हरिचंद्र मिड्‌ढा के निधन से खाली हुई थी. इस जीत को लोक सभा चुनाव से ठीक पहले राज्य की मनोहर लाल खट्टर सरकार के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है. उधर, राजस्थान की रामगढ़ विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस की सफिया जुबेर खां ने जीत दर्ज की.

5

चौथे एकदिवसीय मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से मात दी

पांच एकदिवसीय मैचों की सीरीज के चौथे मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से हरा दिया. गुरुवार को हुए इस मैच में मेजबान टीम ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था जो सही साबित हुआ. विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी वाली भारतीय टीम 30 दशमलव तीन ओवरों में सिर्फ 92 रनों पर ढेर हो गई. ये एकदिवसीय मैचों में भारत का सातवां सबसे कम स्कोर है. इसमें न्यूजीलैंड के गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने 21 रन देकर पांच विकेट लिए. जीत के लिए 93 रनों का लक्ष्य न्यूजीलैंड ने 14 दशमलव चार ओवरों में महज दो विकेट खोकर हासिल कर लिया. इससे पहले के तीन मैच जीतकर भारत ये सीरीज पहले ही अपनी झोली में डाल चुका है

  • भारतीय रेल

    समाचार | अख़बार

    ट्रेनों की सुरक्षा के लिए नई कमांडो फोर्स सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 15 अगस्त 2019

    इमरान खान

    समाचार | बयान

    इमरान खान द्वारा पाकिस्तान को कश्मीर की लड़ाई के लिए तैयार बताए जाने सहित आज के बड़े बयान

    ब्यूरो | 15 अगस्त 2019

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

    समाचार | बुलेटिन

    भारत-चीन को डब्ल्यूटीओ से लाभ नहीं लेने देने के डोनाल्ड ट्रंप के बयान सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 14 अगस्त 2019

    इमरान खान

    विचार और रिपोर्ट | विदेश

    जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटने पर पाकिस्तान हद से ज्यादा बौखलाया हुआ क्यों है?

    ब्यूरो | 14 अगस्त 2019