पूर्व आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल

समाचार | अख़बार

उर्जित पटेल के इस्तीफे पर नरेंद्र मोदी के बयान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

दैनिक जागरण | नवभारत टाइम्स | हिन्दुस्तान | द हिंदू | द न्यूयॉर्क टाइम्स

ब्यूरो | 02 जनवरी 2019 | फोटो: यूट्यूब

1

राम मंदिर पर अध्यादेश न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही : नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने से पहले राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने से इनकार किया है. दैनिक जागरण के मुताबिक उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई के साथ एक साक्षात्कार में यह बात कही. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार तीन तलाक मामले में भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अध्यादेश लाई थी. उनका यह भी कहना था कि भाजपा ने अपने घोषणापत्र में राम मंदिर मुद्दे को संविधानसम्मत तरीके से सुलझाने की बात कही थी.

2

मध्य प्रदेश : भारत बंद के दौरान दलितों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने का फैसला

मध्य प्रदेश और राजस्थान में दलितों के खिलाफ भारत बंद के दौरान दर्ज मामले वापस लेने की बसपा प्रमुख मायावती की चेतावनी का असर पड़ता हुआ दिख रहा है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने बीते साल एससी-एसटी एक्ट को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन में शामिल लोगों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने का फैसला किया है. साथ ही, कमलनाथ सरकार ने कहा है कि वह बीते 15 वर्षों में दर्ज इस तरह के अन्य मामले भी वापस लेगी. दूसरी ओर, राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने मायावती की मांग को सही बताते हुए इस पर विचार करने की बात कही है. इससे पहले बीते सोमवार को मायावती ने कहा था कि अगर दोनों राज्यों की सरकारों ने दलितों पर दर्ज ये मामले नहीं हटाए तो वे सरकार से अपना समर्थन वापस ले सकती हैं.

3

पाकिस्तान की जेलों में 537 भारतीय कैद

पाकिस्तान की जेलों में 537 भारतीयों को कैद रखा गया है. इनमें 483 मछुआरे शामिल हैं. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक भारत और पाकिस्तान ने द्विपक्षीय समझौते के तहत परमाणु प्रतिष्ठानों और एक-दूसरे की जेलों में बंद कैदियों की जानकारी साझा की है. इस सूची के सामने आने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान से 17 भारतीय कैदियों और 369 मछुआरों को रिहा करने के काम में तेजी लाने को कहा है. सरकार का कहना है कि इनकी नागरिकता की पुष्टि हो चुकी है. साथ ही, सरकार ने उन कैदियों के मामले में जल्द प्रतिक्रिया देने को भी कहा है जिन्होंने अपनी सजा पूरी कर ली है. दूसरी ओर, भारत ने कहा है कि उसकी जेलों में 347 पाकिस्तानी कैद हैं. इनमें 98 मछुआरे और 249 अन्य कैदी हैं.

4

उर्जित पटेल ने छह महीने पहले इस्तीफा देने की इच्छा जताई थी : प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल ने छह महीने पहले इस्तीफा देने की बात कही थी. द हिंदू में छपी खबर के मुताबिक एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वे इस बात का खुलासा पहली बार कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने उर्जित पटेल के इस्तीफे के पीछे सरकार के साथ टकराव से साफ इनकार किया. उन्होंने कहा कि आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने अपने इस्तीफे में कहा है कि वे निजी कारणों से इस्तीफा दे रहे हैं. वहीं, अहम संस्थाओं के कमजोर करने के आरोपों पर उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस को इस मुद्दे पर बोलने का कोई हक नहीं है. (यूपीए सरकार में) प्रधानमंत्री और प्रधानमंत्री कार्यालय के खिलाफ एनएसए (राष्ट्रीय सलाहकार परिषद) का गठन किया गया था.’

5

ताइवान को चीन में मिलाने के लिए सैन्य ताकत का इस्तेमाल भी किया जा सकता है : शी जिनपिंग

चीन ने कहा है कि वह ताइवान का खुद में विलय सुनिश्चित करने के विकल्प के तौर पर सैन्य ताकत का इस्तेमाल भी कर सकता है. द न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि इस द्वीप को आखिरकार फिर चीन के साथ मिलाया जाएगा. उनका यह भी कहना था कि चीन इस काम में अड़ंगा लगाने वाले बाहरी तत्वों के खिलाफ सभी आवश्यक कदम उठाने का विकल्प खुला रखेगा. चीन और ताइवान एक-दूसरे की संप्रभुता को मान्यता नहीं देते. दोनों खुद को असली चीन मानते हैं. चीन का आधिकारिक नाम पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना है और जिसे दुनिया ताइवान के नाम से जानती है उसका अपना आधिकारिक नाम है रिपब्लिक ऑफ चाइना.

  • श्रीलंका में बम धमाके

    समाचार | अख़बार

    श्रीलंका में बम धमाकों में 290 लोगों की मौत सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 1 घंटा पहले

    ऑनलाइन बैंकिंग

    ज्ञानकारी | अर्थव्यवस्था

    एनईएफटी ट्रांजैक्शन से जुड़ी पांच बातें जो आपको जाननी चाहिए

    ब्यूरो | 2 घंटे पहले

    नरेंद्र मोदी

    विचार | राजनीति

    पांच मौके जब चुनाव आयोग ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से नरेंद्र मोदी के प्रति नरम रुख अपनाया

    ब्यूरो | 4 घंटे पहले