नरेंद्र मोदी

समाचार | अख़बार

अब मध्यवर्ग को खुश करने की सरकार की तैयारी सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

दैनिक जागरण | द स्टेटसमैन | हिंदुस्तान | नवभारत टाइम्स | अमर उजाला

ब्यूरो | 09 जनवरी 2019 | फोटो: पीआईबी

1

आर्थिक आरक्षण के बाद मोदी सरकार की अब दूसरे वर्गों को लुभाने की कोशिश

आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण के बाद अब मोदी सरकार मध्य वर्ग के लिए कुछ बड़ी घोषणाएं कर सकती है. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक ऐसा जल्द ही आने वाले अंतरिम बजट के जरिये किया जा सकता है जिसमें आम आयकरदाताओं को कर में ज्यादा छूट दी जा सकती है.  इसके अलावा किसानों के लिए भी भी एक पैकेज का ऐलान किया जा सकता है. आर्थिक रूप से पिछले सवर्णों के लिए केंद्रीय शिक्षण संस्थानों और नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण के प्रावधान वाला विधेयक आज राज्यसभा में पेश होगा.

2

भारत बंद का मिला-जुला असर

10 केंद्रीय श्रमिक संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद का मंगलवार को मिला-जुला असर देखने को मिला. द स्टेट्समैन के मुताबिक बंद के चलते बैंकिंग और डाक सेवाएं प्रभावित हुईं. केरल, तमिलनाडु, मुंबई और पश्चिम बंगाल में सार्वजनिक परिवहन सेवाओं पर भी इसका असर पड़ने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. दो दिवसीय यह बंद आज भी जारी रहेगा. श्रमिक संगठनों के मुताबिक अलग-अलग क्षेत्रों के करीब 20 करोड़ कर्मचारी इसमें हिस्सा ले रहे हैं. इसका आयोजन मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ किया जा रहा है. श्रमिक संगठनों का आऱोप है कि सरकार की नीतियों के चलते महंगाई और बेरोजगारी बढ़ गई है.

3

गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण निजी शिक्षण संस्थानों में भी

सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 फीसदी आरक्षण निजी शिक्षण संस्थानों में भी लागू करने की तैयारी है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक इसका प्रावधान इससे संबंधित 124वें संविधान संशोधन विधेयक में किया गया है. मौजूदा कानूनों के तहत आरक्षण निजी संस्थानों पर आंशिक रूप से लागू है. इसके तहत जो संस्थान सरकारी विश्वविद्यालय या अन्य संस्थानों से जुड़े होते हैं या किसी भी तरह की सरकारी मदद हासिल करते हैं, वे इसके दायरे में आते हैं. इससे पहले शिक्षा के अधिकार (आरटीई) कानून-2009 के तहत निजी स्कूलों में भी गरीब परिवार के बच्चों के लिए 25 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया गया था.

4

नागरिकता संशोधन विधेयक की वजह से पूर्वोत्तर में भाजपा के चुनावी मंसूबों पर पानी फिरने की आशंका

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ असम गण परिषद (एजीपी) के एनडीए का साथ छोड़ने के बाद पूर्वोत्तर के अन्य दल भी इस कतार में शामिल हो सकते हैं. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक पूर्वोत्तर के राज्यों में इस विधेयक का भारी विरोध किया जा रहा है. माना जा रहा है कि यदि पूर्वोत्तर के राज्यों में भाजपा अपने सहयोगी दलों का साथ खोती है तो उसके लोक सभा चुनाव में यहां की 25 में से 20 से अधिक सीटें जीतने की संभावना पर पानी फिर सकता है. हालांकि, केंद्र सरकार ने इस बारे में कहा है कि प्रस्तावित कानून पूर्वोत्तर के साथ राजस्थान, पंजाब, गुजरात और दिल्ली में आकर बसने वाले प्रवासियों की बेहतरी के लिए भी है. इस विधेयक को मंगलवार को लोक सभा में पारित कर दिया गया. इसके तहत बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आने वाले गैर-मुसलमान प्रवासियों को भारत की नागरिकता देने संबंधी नियमों में ढील दी गई है.

5

नासा ने जीवन की संभावना वाले नए ग्रह की खोज की

नासा ने सौर मंडल के बाहर एक नए ग्रह ‘एचडी21749’ की खोज की है. अमर उजाला की खबर के मुताबिक यह नया ग्रह पृथ्वी से 53 प्रकाश वर्ष दूर रेटीकुलम तारामंडल के सूर्य के समान ड्वार्फ (बौने) तारे की परिक्रमा कर रहा है . बताया जाता है कि तारे के नजदीक होने के बाद भी इसकी सतह का तापमान 300 डिग्री फॉरेनहाइट है. इस ग्रह के बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि पानी की वजह से इसका वायुमंडल घना है. साथ ही, इस पर जीवन की संभावना भी हो सकती है. इस ग्रह की खोज अप्रैल, 2018 में छोड़े गए सेटेलाइट ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सेटेलाइट द्वारा की गई है. इससे पहले इसने दो और नए ग्रहों की खोज की थी.

  • नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप

    समाचार | बयान

    डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कश्मीर की स्थिति को विस्फोटक बताए जाने सहित आज के बड़े बयान

    ब्यूरो | 4 घंटे पहले

    पी चिदंबरम

    समाचार | बुलेटिन

    पी चिदंबरम के देश से बाहर जाने पर रोक लगाए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 8 घंटे पहले

    आर्डिनेंस फैक्ट्रियों के कर्मचारियों की हड़ताल

    समाचार | अख़बार

    देश भर में आर्डिनेंस फैक्ट्रियों की हड़ताल सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 16 घंटे पहले

    शाह महमूद कुरैशी

    समाचार | बयान

    शाह महमूद कुरैशी द्वारा कश्मीर मसला आईसीजे में ले जाने इरादा जताए जाने सहित आज के बड़े बयान

    ब्यूरो | 21 अगस्त 2019