सुप्रीम कोर्ट

समाचार | अख़बार

अयोध्या मामले की सुनवाई फिर टलने सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

अमर उजाला | नवभारत टाइम्स | दैनिक जागरण | हिंदुस्तान | द स्टेट्समैन

ब्यूरो | 28 जनवरी 2019 | फोटो: विकीमीडिया कॉमन्स

1

अयोध्या मामले की सुनवाई फिर टली

अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई एक बार फिर टाल दी गई है. अमर उजाला ने सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री के हवाले से इस बात की जानकारी दी है. इसके मुताबिक पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ में न्यायाधीश एसए बोबड़े की गैर-मौजूदगी की वजह से 29 जनवरी को होने वाली सुनवाई का न होना तय दिख रहा है. बताया जाता है कि अब मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई एक बार फिर इस मामले की सुनवाई के लिए नई तारीख का एलान करेंगे. इससे पहले भी न्यायाधीश यूयू ललित द्वारा खुद को इस मामले से अलग करने की वजह से नई पीठ का गठन किया गया था.

2

बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर का मोबाइल आरोपित के घर पर मिला

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा के दौरान मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का मोबाइल इस मामले के आरोपित प्रशांत नट के घर से बरामद हुआ है. पुलिस की मानें तो प्रशांत ने ही सुबोध को गोली मारी थी. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक पुलिस अधिकारी अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित के घर की तलाशी में छह मोबाइल जब्त किए गए हैं जिनमें से एक सुबोध कुमार का भी है. बीते महीने हुई हिंसा के दौरान उनका रिवॉल्वर भी लूट लिया गया था. प्रशांत नट को बीती 18 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था.

3

‘सपने दिखाने वाले नेता अगर काम नहीं करते हैं तो लोग उनकी पिटाई भी करते हैं’

केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने जनप्रतिनिधियों द्वारा जनता से किए गए वादों को लेकर बड़ी टिप्पणी की है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक रविवार को उन्होंने कहा, ‘लोग ऐसे नेताओं को पसंद करते हैं जो सपने दिखाते हैं. लेकिन, अगर सपने सच नहीं हुए तो लोग उन नेताओं की पिटाई भी करते हैं.’ इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि वे काम करते हैं और अपने वादों को पूरा करते हैं. नागपुर से भाजपा सांसद गडकरी ने कहा, ‘मुंबई में मीडिया वाले जानते हैं कि मैं किस तरह का व्यक्ति हूं. उन्होंने देखा है कि मैं किस तरह का व्यक्ति हूं.’ नितिन गड़करी ने महाराष्ट्र में 1995 से 1999 की सरकार में लोक निर्माण विभाग के मंत्री रहने के दौरान अपनी उपलब्धियों को भी गिनाया.

4

शिक्षकों से गैर-शैक्षणिक कार्य नहीं करवाया जा सकता : दिल्ली हाईकोर्ट

दिल्ली हाई कोर्ट ने एक अहम फैसला सुनाया है. दैनिक जागरण के मुताबिक उसने कहा है कि शिक्षकों और प्रधानाचार्यों से गैर शैक्षणिक कार्य नहीं कराया जा सकता. अदालत के मुताबिक नगर निगम स्कूलों के शिक्षकों से यह नहीं कह सकते कि वे वार्ड शिक्षा रजिस्टर तैयार करें. इसके अलावा बच्चों का बैंक खाता खुलवाने और उन्हें आधार से लिंक करवाने के लिए निगम प्रधानाचार्य की मदद ले सकते हैं, लेकिन यह जरूरी नहीं है. अदालत ने यह निर्देश अखिल दिल्ली प्राथमिक शिक्षा संघ की तरफ से हाई कोर्ट में दायर याचिका पर सुनाया. इसमें कहा गया था कि निगम के स्कूलों में तैनात शिक्षकों से शिक्षा के अलावा अन्य कार्य कराए जाते हैं

5

फिलिपींस : दो बम धमाकों में 18 लोगों की मौत, 83 घायल

फिलिपींस में दो बम धमाकों में कम से कम 20 लोगों के मारे जाने और 80 से ज्यादा के घायल होने की खबर है. द स्टेट्समैन के मुताबिक ये धमाके रविवार को दक्षिणी फिलिपींस के एक द्वीप पर हुए. हमलावरों ने यहां के एक कैथलिक गिरजाघर को निशाना बनाते हुए धमाके किए. मरने वालों में कई सैनिक भी शामिल हैं. दक्षिणी फिलिपींस को इस्लामिक आतंकवादियों का गढ़ माना जाता है. यहां कुछ दिन पहले ही क्षेत्र के मतदाताओं ने स्वायत्त मुस्लिम क्षेत्र के हक में मतदान किया था.

  • मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा

    समाचार | अख़बार

    6 मार्च के बाद आम चुनाव की तारीखों के ऐलान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 8 घंटे पहले

    अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि

    समाचार | बुलेटिन

    अयोध्या विवाद पर 26 फरवरी को सुनवाई होने सहित आज के पांच बड़े समाचार

    ब्यूरो | 20 घंटे पहले

    मिजोरम, लोक उत्सव

    समाचार | आज का कल

    मिज़ोरम राज्य के अस्तित्व में आने सहित 20 फरवरी को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

    ब्यूरो | 20 फरवरी 2019