प्रभाष जोशी

समाचार | आज का कल

जनसत्ता के संस्थापक-संपादक प्रभाष जोशी के जन्म सहित 15 जुलाई को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

प्रभाष जोशी | मोहम्मद उस्मान | के कामराज | मुंबई बस सर्विस | अल्जीरिया

ब्यूरो | 15 जुलाई 2019 | फोटो: विकीमीडिया

1

15 जुलाई, 1936 को हिंदी के जाने-माने पत्रकार प्रभाष जोशी का जन्म हुआ था. नई दुनिया के साथ अपना पत्रकार करियर शुरू करने वाले जोशी जी हिंदी दैनिक जनसत्ता के संस्थापक-संपादक थे.

2

15 जुलाई, 1912 को भारतीय सेना के महान अफसर मोहम्मद उस्मान का जन्म हुआ था. आजमगढ़ में पैदा हुए मोहम्मद उस्मान को मोहम्मद अली जिन्ना ने बंटवारे के समय मुसलमान होने का वास्ता देकर उनसे पाकिस्तान आने का आग्रह किया. यही नहीं, उन्हें पाकिस्तान की सेना का प्रमुख बनाने का ऑफर दिया गया. लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया और पाकिस्तान के साथ पहले युद्ध (1947-48) में शहीद हो गए. उनकी निर्भीक और बहादुराना नेतृत्व क्षमता के लिए उनको नौशेरा का शेर कहा जाता है.

3

15 जुलाई, 1903 को  भारत रत्न से सम्मानित स्वतंत्रता सेनानी, राजनेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के कामराज का जन्म हुआ था. वे सुधारवादी नेता थे जिन्होंने तमिलनाडु के विकास के लिए काफी काम किए. इंदिरा गांधी के मजबूत नेता के तौर पर उभरने में उनका बड़ा हाथ माना जाता है.

4

15 जुलाई, 1926 को बॉम्बे (अब मुंबई) में पहली मोटरबस सेवा की शुरुआत हुई थी. इसे चलाने वाली कंपनी बॉम्बे इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रामवेज (बेस्ट) इसके पहले तक केवल ट्रामें ही चलाती थी.

5

15 जुलाई, 1962 को अल्जीरिया अरब लीग का हिस्सा बना था. इसमें संयुक्त अरब अमीरात, सीरिया, ईजिप्ट, लेबनान, मोरक्को जैसे 22 देश शामिल हैं.

  • मोहन भागवत

    समाचार | अख़बार

    आरक्षण पर मोहन भागवत के अहम बयान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 7 घंटे पहले

    सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान

    विचार और रिपोर्ट | विदेश

    अनुच्छेद-370 को लेकर भारत के फैसले पर इस्लामिक देश चुप क्यों हैं?

    ब्यूरो | 21 घंटे पहले

    भारतीय सेना के जवान

    समाचार | बुलेटिन

    जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में हिंसा की घटनाओं के बाद फिर सख्ती बढाए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 21 घंटे पहले

    नरेंद्र मोदी

    समाचार | बयान

    नरेंद्र मोदी द्वारा भूटान को बेहतरीन पड़ोसी बताए जाने सहित आज के बड़े बयान

    ब्यूरो | 17 अगस्त 2019