बालश्रम निषेध दिवस

समाचार | आज का कल

चाइल्ड लेबर डे की शुरूआत सहित 12 जून को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

बालश्रम निषेध दिवस | इंदिरा गांधी | ऐन फ्रैंक | एलकटराज | नेल्सन मंडेला

ब्यूरो | 12 मई 2019 | फोटो: आईएलओ

1

12 जून, 2002 को बालश्रम निषेध दिवस की शुरुआत हुई थी. इस दिवस का मकसद लोगों में बालश्रम को लेकर जागरूकता फैलाना था. संयुक्त राष्ट्र क संस्था इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन ने इसकी शुरूआत की थी

2

12 जून, 1975 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को चुनाव में सरकारी मशीनरी के इस्तेमाल का दोषी ठहराते हुए उनके निर्वाचन को अमान्य करार दिया था. यह मामला 1971 के लोकसभा चुनाव के सिलसिले में विपक्ष के नेता राजनारायण ने दाखिल किया था. इसमें अदालत ने इंदिरा गांधी को चुनाव में अनुमति से ज्यादा धन व्यय करने और सरकारी संसाधनों के दुरूपयोग का दोषी पाया था. हाई कोर्ट ने उनके किसी भी राजनीतिक पद ग्रहण करने पर रोक लगा दी थी. हालांकि यह फैसला अमल में नहीं आ पाया. इसके बाद का घटनाक्रम आपातकाल के काले दौर का गवाह बना.

3

12 जून, 1929 को दूसरे विश्व युद्ध के दौरान नाजियों के जुल्म का शिकार बनी यहूदी लड़की ऐन फ्रेंक का जन्म हुआ था. नाजियों की कैद के दौरान लिखी गई ऐन की डायरी को बाद में किताब के रूप में छापा गया.

4

12 जून, 1962 को अमेरिका में सैन फ्रांसिस्को की खाड़ी में स्थित कड़ी सुरक्षा वाले कारागार एलकटराज से तीन कैदी भाग निकले. इस जेल को सुरक्षा के हिसाब से अकाट्य माना जाता था और यहां सबसे गंभीर अपराधों वाले कैदियों को रखा जाता था.

5

12 जून, 1964 को अफ्रीका में रंगभेद के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई करने वाले अश्वेत नेता नेल्सन मंडेला को सरकार के खिलाफ साजिश का दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा. अपने आंदोलनो के बाद राजनीतिक नेता की तरह उभरे मंडेला 1994 से 1999 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रहे थे.

  • इंटरनेट कम्प्यूटर सेक्योरिटी

    समाचार | इंटरनेट

    क्या आपको इंटरनेट की दुनिया में सुरक्षित रहना आता है?

    संजय दुबे | 01 अप्रैल 2020

    शाओमी रेडमी के-20 प्रो

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    शाओमी रेडमी के20 प्रो: एक ऐसा स्मार्टफोन जिसकी डिजाइन और कीमत सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं

    ब्यूरो | 08 सितंबर 2019

    ह्वावे लोगो

    विचार और रिपोर्ट | तकनीक

    अमेरिका की नीतियों से जूझ रहे ह्वावे को क्या उसका नया ऑपरेटिंग सिस्टम राहत दे सकता है?

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019

    महबूबा मुफ्ती

    समाचार | बुलेटिन

    महबूबा मुफ्ती की बेटी को उनसे मिलने की इजाजत दिए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 05 सितंबर 2019