सैमसंग गैलेक्सी एस20

खरा-खोटा | मोबाइल फोन

सैमसंग गैलेक्सी एस20: दुनिया की सबसे अच्छी स्क्रीन वाले मोबाइल फोन्स में से एक

रेटिंग्स: एक्सपर्ट्स - 4.2/5 | यूजर्स - 4/5 | फाइव पॉइंट्स - 4/5

ब्यूरो | 27 नवंबर 2020 | फोटो: सैमसंग.कॉम

1

स्क्रीन: साइज़ – 6.2 इंच, रिज़ॉल्यूशन – 3200×1440 पिक्सल्स, एसपेक्ट रेशियो – 20:9, डायनामिक अमोलेड इनफिनिटी-ओ डिस्प्ले
रैम: 8 जीबी
मेमोरी: 128 जीबी (1 टीबी तक एक्सपैंडेबल)
कार्ड स्लॉट्स: हाइब्रिड ड्यूअल सिम
कैमरा: रियर – 12  मेगापिक्सल, 64 मेगापिक्सल, 12 मेगापिक्सल. फ्रंट – 10 मेगापिक्सल
बैटरी: 4000 एमएएच. (25 वॉट फास्ट चार्जर)
ऑपरेटिंग सिस्टम: एंड्रॉयड वर्ज़न 10.0
नेटवर्क कैपेबिलिटीज: 2जी, 3जी, 4जी, 5जी
कीमत: 4जी वर्जन –  53,240 रुपए, 5जी वर्ज़न – 74,999 रुपए

2

खूबी:

सैमसंग गैलेक्सी एस-20 की सबसे बड़ी खूबी इसका 5जी तकनीक से लैस होना है. यह इसे भविष्य का फोन भी बनाता है. लेकिन इसके 4जी और 5जी मॉडल की कॉमन खूबियों की बात करें तो बेहतरीन डिस्प्ले और कैमरा गैलेक्सी सीरीज के हर फोन की खासियतें होती हैं. लेकिन 563 पिक्सल्स/इंच शो करने वाला सैमसंग गैलेक्सी एस-20 मौजूदा समय में सबसे अच्छी स्क्रीन वाले फोन्स में से एक है. 120 हर्ट्ज रिफ्रेश रेट वाला इसका सेंसिटिव टच इसे गेमिंग के शौकीनों के लिए भी परफेक्ट बनाता है. अच्छी बात यह है कि यह गोरिल्ला ग्लास 6 प्रोटेक्शन के साथ आता है. कैमरे की बात करें तो इससे 3x लॉसलेस ज़ूम के साथ तस्वीरों को खींचा जा सकता है जो अब तक एंड्रायड में उपलब्ध बेस्ट क्वालिटी है. इसके साथ-साथ फोन में 30x डिजिटल ज़ूम भी उपलब्ध है.

3

खामी:

एस-सीरीज के पिछले सभी मोबाइल फोन्स में मौजूद रहने वाला 3.5 मिमी हेडफोन जैक सैमसंग गैलेक्सी एस-20 में नहीं है. इसका मतलब है कि मोबाइल पर वायर्ड हेडफोन का इस्तेमाल करने के लिए आपको हेडफोन के साथ-साथ एडॉप्टर खरीदने की ज़रूरत भी पड़ेगी. इन दोनों की जितनी कीमत होगी उतने में एक ठीक-ठाक सा वायरलेस हेडफोन खरीदा जा सकता है. वैसे इस फोन को खरीदना हरेक के बस की बात नहीं है. इसलिए जाहिर है कि इस फोन को अफोर्ड कर सकने वाला कोई भी व्यक्ति शायद ही इसके साथ वायर्ड हेडफोन या कामचलाऊ वायरलेस हेडफोन का इस्तेमाल करना चाहेगा. सैमसंग गैलेक्सी एस-20 के 5जी वर्जन की कीमत इतनी ज्यादा होना भी इसकी खामियों में गिना जा सकता है. और यह फोन 5जी के लो और मिड फ्रीक्वेंसी बैंड पर ही काम करेगा, सबसे ज्यादा स्पीड वाले हाई फ्रीक्वेंसी मिलीमीटर बैंड पर नहीं. वैसे देश में 5जी उपलब्ध होने पर मिलीमीटर बैंड कुछ चुनिंदा जगहों पर ही उपलब्ध होगा और लो और मिड फ्रीक्वेंसी बैंड वाले 5जी का स्पीड भी एक आम यूजर के लिए काफी ज्यादा होगी. टेक राडार के मुताबिक सैमसंग गैलेक्सी एस-20 का फिंगरप्रिंट स्कैनर कई बार इतना धीमे काम करता है कि अनलॉक करने में पिन का इस्तेमाल करना कम वक्त लेने वाला हो जाता है.

4

विकल्प:

गूगल पिक्सल 4 एक्सएल: स्क्रीन साइज –  6.3 इंच| रैम – 6 जीबी | मेमोरी – 64 जीबी | रियर और फ्रंट कैमरा –  16+12.2 मेगापिक्सल, 8 मेगापिक्सल | बैटरी – 3700 एमएएच | ऑपरेटिंग सिस्टम: एंड्रॉयड 10 | कीमत – 98,499 रुपए.

एपल आईफोन11 प्रो मैक्स: स्क्रीन साइज –  6.5 इंच| रैम – 4 जीबी | मेमोरी – 64 जीबी | रियर और फ्रंट कैमरा –  12+12+12 मेगापिक्सल, 12 मेगापिक्सल | बैटरी – 3969 एमएएच | ऑपरेटिंग सिस्टम: आईओएस वर्जन 13.0 | कीमत – 99,999 रुपए.

वन प्लस-8 प्रो: स्क्रीन साइज –  6.78 इंच| रैम – 8 जीबी | मेमोरी – 128 जीबी | रियर और फ्रंट कैमरा – 48+48+8+5  मेगापिक्सल, 16 मेगापिक्सल | बैटरी – 4510 एमएएच | ऑपरेटिंग सिस्टम: एंड्रॉयड 10 | कीमत – 54,999 रुपए.

(सभी विकल्प सैमसंग गैलेक्सी एस-20 के 4जी वर्जन के लिए हैं)

5

खरा या खोटा:

चूंकि भारत में 5जी कनेक्टिविटी उपलब्ध होने में अभी कम से कम दो साल लगने वाले हैं, इसलिए भारतीय यूजर के लिए सैमसंग गैलेक्सी एस-20 के 5जी वर्जन को खरीदने का कोई मतलब नहीं है. जब तक हमारे यहां 5जी आएगा तब तक सैमसंग गैलेक्सी एस-20 बीते कल की बात होकर बहुत सस्ता हो जाएगा. ऐसे में इस फोन का 4जी वर्जन बेहतरीन स्क्रीन, कमाल के रियर कैमरे और ठीक-ठाक फ्रंट कैमरे के साथ, गैलेक्सी सीरीज के पिछले फोन – सैमसंग गैलेक्सी एस-10 के अपडेटेड वर्जन सरीखा हो जाता है. इसकी बढ़िया परफॉर्मेंस, बैटरी लाइफ और सुंदर-आरामदायक डिजाइन इसे पसंद करने की वजह बन सकते हैं. लेकिन क्या ये वजहें इतनी बड़ी हैं कि इनके लिए आप 55 हज़ार रूपये खर्च कर दें!

ध्यान दें: उत्पादों की कीमतें 25 नवंबर 2020 को एमेजॉन और फ्लिपकार्ट की वेबसाइटों से ली गई हैं. एक्सपर्ट रेटिंग टेक रडार, एंड्रॉयड अथॉरिटी और बीजीआर की रेटिंग्स का औसत है और यूजर रेटिंग गूगल से ली गई है. इनमें से किसी भी संस्था का फाइव पॉइंट्स से कोई संबंध नहीं है.

  • भारतीय भोजन की थाली

    विचार-रिपोर्ट | संसद

    क्या संसद की कैंटीन से सब्सिडी हटने का सबसे ज्यादा नुकसान सांसदों को ही होने वाला है?

    ब्यूरो | 21 जनवरी 2021

    वाट्सएप

    विचार-रिपोर्ट | तकनीक

    क्यों हमें वाट्सएप की मनमानी रोकने के लिए यूरोप से सबक लेने की जरूरत है

    ब्यूरो | 19 जनवरी 2021

    केपी शर्मा ओली नेपाल

    विचार-रिपोर्ट | विदेश

    जब चीन से इतनी दोस्ती है तो नेपाल कोरोना वायरस की भारतीय वैक्सीन को क्यों तरजीह दे रहा है?

    अभय शर्मा | 17 जनवरी 2021

    पोल्ट्री

    ज्ञानकारी | स्वास्थ्य

    क्या यह सच है कि चिकन या अंडा खाने से बर्ड फ्लू हो सकता है?

    ब्यूरो | 15 जनवरी 2021