भारत में कटरीना कैफ और सलमान खान

खरा-खोटा | सिनेमा

भारत: एक कमाल कोरियाई फिल्म का आत्माहीन भारतीय संस्करण

कलाकार: सलमान खान, कैटरीना कैफ, सुनील ग्रोवर, जैकी श्रॉफ, दिशा पाटनी | निर्देशक: अली अब्बास जफर | लेखक: अली अब्बास जफर, वरुण वी. शर्मा | रेटिंग: 2/5

ब्यूरो | 07 मई 2019 | भारत में कटरीना कैफ और सलमान खान

1

सलमान खान अभिनीत ‘भारत’ 2014 में रिलीज हुई कोरियाई फिल्म ‘ओड टू माय फादर’ का ऑफिशियल हिंदी रीमेक है. ‘भारत’ में संवादों से लेकर दृश्यों तक सभी को नए सिरे से लिखा गया है. साथ ही एक विदेशी कहानी में भारतीय संवेदनाओं को जमाने की ईमानदार कोशिश भी की गई है. इसके बावजूद बॉलीवुड की फिल्मों में हमेशा मौजूद रहने वाला मेलोड्रामा, रंगीन गाने, बेमतलब का ह्यूमर और  नायक का सुपरहीरो होना ‘भारत’ में शामिल है. और यही उसे उसकी मूल जमीनी कहानी से भटका भी देता है.

2

‘ओड टू माय फादर’ एक बेटे के अपने पिता से किए वादे को आखिर तक निभाने की कहानी थी. ‘भारत’ भी इसी वादे को आखिर तक निभाने का किस्सा कहती है. लेकिन जहां कोरियाई फिल्म ने इस एक वादे के अंदर मौजूद दूसरे वादे को आखिर तक छिपाकर रखा था और प्रभावी बन गई थी. वहीं ‘भारत’ फिल्म की शुरुआत से ही चिल्ला-चिल्लाकर बताती है और इस अलहदा विचार की चमक को फीकी कर देती है.

3

कई सारी ऐतिहासिक घटनाओं से देश और नायक का साथ-साथ गुजरना कोरियाई फिल्म की खासियत थी. इसके उलट ‘भारत’ में केवल हिंदुस्तान-पाकिस्तान बंटवारे को ही कुशलता के साथ परदे पर रचा जा सका है. एक पंक्ति में कहें, तो सलमान खान की सुपरसितारा छवि को भुनाने में ही ‘भारत’ खप जाती है.

4

अभिनय की बात करें तो सुनील ग्रोवर भले ही नायक के दोस्त की टकसाली भूमिका में हैं, लेकिन प्रभावशाली अभिनय करते हैं. कैटरीना कैफ हिंदी बोलते वक्त क्यूट लगती हैं. हिंदी शब्दों का उनका उच्चारण काफी सुधरा भी है. उनकी और सलमान खान की कैमिस्ट्री फिल्म की खासियतों में से एक कही जा सकती है.

5

बाकी सलमान खान, सलमान खान का ही अभिनय करते हैं. चंद दृश्यों में अपने अभिनय की गहराई से चौंकाने के अलावा बाकी कहीं भी अपनी सुपरसितारा छवि को डैमेज करने का प्रयास नहीं करते! लेकिन एक फैमिली ड्रामा फिल्म में जरूरत से ज्यादा मेलोड्रामा भरने की वजह से यह फिल्म जम्हाइयों की वजह बन जाती है.

  • संतोष बीएल

    विचार | राजनीति

    भाजपा में संगठन महामंत्री के तौर पर बीएल संतोष की नियुक्ति के क्या मायने हैं?

    ब्यूरो | 12 घंटे पहले

    प्रभाष जोशी

    समाचार | आज का कल

    जनसत्ता के संस्थापक-संपादक प्रभाष जोशी के जन्म सहित 15 जुलाई को घटी पांच प्रमुख घटनाएं

    ब्यूरो | 14 घंटे पहले

    इसरो

    समाचार | बुलेटिन

    तकनीकी खराबी के चलते चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग टलने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 15 घंटे पहले

    प्रियंका गांधी

    समाचार | अख़बार

    प्रियंका गांधी वाड्रा को पूरे उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दिए जाने सहित आज के अखबारों की बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 20 घंटे पहले