मायावती

रिपोर्ट | राजनीति

क्या प्रधानमंत्री बनने के सपने देखने वाली मायावती देश की अगली राष्ट्रपति बन सकती हैं?

अगर एनडीए को लोकसभा चुनाव में 230 के आसपास सीटें मिलती हैं तो वह केंद्र में सरकार बनाने के लिए मायावती को उपप्रधानमंत्री का पद दे सकता है

ब्यूरो | 15 जनवरी 2019 | फोटो: यूट्यूब

1

मायावती राष्ट्रीय राजनीति में अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में नजर आ रही हैं. उनकी बहुजन समाज पार्टी 2014 के लोकसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश में खाता भी नहीं खोल पाई थी. 2017 के विधानसभा चुनावों में उसे सिर्फ 19 सीटें ही मिली थीं. लेकिन सपा से गठबंधन के बाद वे फिर से सियासी तौर पर बेहद ताकतवर लगने लगी हैं. बसपा इस बार उत्तर प्रदेश की 38 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी. अगर इनमें से वह तकरीबन 30 सीटें लेती है तो राष्ट्रीय राजनीति में मायावती के लिए बड़ी संभावनाओं के द्वार खुल सकते हैं.

2

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा तो है लेकिन अभी की स्थिति में कांग्रेस की सीटें भी बहुत बढ़ती हुई नहीं दिख रही हैं. ऐसे में लोकसभा चुनाव के बाद एक संभावना गैर भाजपाई और गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री की भी बन सकती है. उस स्थिति में प्रधानमंत्री के पद पर मायावती की भी दावेदारी होगी. अखिलेश इस मामले में उनका समर्थन करने का संकेत दे ही चुके हैं. साथ ही दलित और महिला होना भी उनके पक्ष में जा सकता है.

3

एक संभावना यह भी है कि अगर भाजपा की अगुवाई वाले एनडीए को लोकसभा चुनाव में 230 के आसपास सीटें मिलती हैं तो वह केंद्र में सरकार बनाने के लिए मायावती को उपप्रधानमंत्री का पद दे सकता है. अगर जरूरत हो तो ऐसा ही प्रस्ताव उन्हें कांग्रेस की ओर से भी मिल सकता है.

4

कुछ लोग एक संभावना और देखते हैं. इनके मुताबिक कांग्रेस या भाजपा की ओर से मायावती को अगला राष्ट्रपति बनाने का प्रस्ताव भी दिया जा सकता है. 2022 में जब राष्ट्रपति चुनाव होंगे तब तक मायावती 66 साल की हो चुकी होंगी. ऐसे में अगर वे राष्ट्रपति बनेंगी तो जब उनका कार्यकाल खत्म होगा तब तक वे 71 साल की हो चुकी होंगी. अगर स्थितियां अनुकूल रहीं तो उनके सामने एक और कार्यकाल का विकल्प भी हो सकता है.

5

कुल मिलाकर आज स्थिति यह है कि अगर मायावती की पार्टी लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करती है और भाजपा और कांग्रेस थोड़ा कम, तो उनके सामने उपप्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री और यहां तक कि राष्ट्रपति बनने तक की संभावनाओं के द्वार खुले हुए हैं.

  • बीेजेपी-जेडीयू

    विचार | राजनीति

    भाजपा और जेडीयू के बीच चल रहे संघर्ष में ताजा रुझान क्या हैं?

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    गूगल लोगो

    समाचार | अख़बार

    गूगल द्वारा उपभोक्ताओं की बातचीत सुनने की बात स्वीकार किए जाने सहित आज के अखबारों की सुर्खियां

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    इंडिगो विमान

    विचार | व्यापार

    इंडिगो एयरलाइन के प्रमोटरों के बीच आखिर किस बात का झगड़ा है?

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    एचडी कुमारस्वामी

    समाचार | बुलेटिन

    कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी के विश्वासमत साबित करने के दावे सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 12 जुलाई 2019