आईएसआईएस

रिपोर्ट | विदेश

आईएस अभी भी इतना ताकतवर कैसे बना हुआ है?

आईएस के सरगना अबू बकर अल-बगदादी का सामने आना और इस संगठन द्वारा हाल ही में किए गए हमले साफ़ संकेत हैं कि इसकी ताकत अब भी बरकरार है

ब्यूरो | 14 जून 2019 | फोटो : musliminstitute.org

1

पिछले दिनों खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुडी दो ऐसी घटनाएं हुईं जिन्होंने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया. एक तो इस संगठन ने छोटे से समुद्री देश श्रीलंका में ताबड़तोड़ धमाके किए. और दूसरा इसके हफ्ते भर बाद ही आईएस के सरगना अबू बकर अल-बगदादी का एक वीडियो सामने आ गया. ये दोनों बातें साफ़ संकेत हैं कि इस आतंकी संगठन की ताकत अभी भी बरकरार है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल ये है कि तमाम देशों की सेनाओं द्वारा उसके खिलाफ चलाए गये अभियानों के बाद भी आईएस इतना ताकतवर कैसे बना हुआ है.

2

सीरिया से रिपोर्टिंग करने वाले सीएनएन के वरिष्ठ संवाददाता बेन वेसमेन के मुताबिक आईएस के लड़ाकों को वहां से भागने का काफी मौका मिला है. संयुक्त राष्ट्र से जुड़े जानकार भी बताते हैं कि कम से कम से 50 फीसदी आतंकी ईराक और सीरिया से भागने में कामयाब हुए हैं. इसके अलावा 2017 से इस संगठन ने एक नई रणनीति अपनाई है. इसके तहत आईएस अब अलकायदा की तरह छोटे-छोटे गुटों में काम करता है. किसी संगठन की इस संरचना को खत्म करना बेहद मुश्किल होता है.

3

ईराक और सीरिया में काफी दिन बिताकर आये पत्रकारों की मानें तो इन देशों से भागे सबसे ज्यादा आतंकियों ने अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बलूचिस्तान में शरण ली है. इसके अलावा अच्छी-खासी संख्या में ये आतंकी लीबिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, मिस्र, सऊदी अरब, जॉर्डन और फिलीपींस भी गए हैं. खुफिया एजेंसियों का यह भी कहना है कि आईएस भारत में भी हिंदू-मुस्लिम तनाव का फायदा उठाने की कोशिशों में लगा हुआ है.

4

भले ही आईएस की खिलाफत का अंत हो गया हो. लेकिन, आईएस अपने इन लड़ाकों को ये संदेश देने में कामयाब रहा है कि दुनिया में कहीं भी रहो, आईएस के मकसद को कामयाबी दिलाने के लिए लगे रहो. यूएन के मुताबिक आज पूरी दुनिया में उसके लड़ाकों का एक नेटवर्क बना हुआ है. इंटरनेट के जरिये चरमपंथी प्रचारकों की एक पूरी फ़ौज इन्हें आपस में जोड़े रखने और इनमें कट्टरता भरने का काम करती रहती है.

5

आईएस की एक बड़ी ताकत उसके पैसे का मैनेजमेंट भी है. खिलाफत का अंत होने से पहले ही उसने बड़ी चालाकी से बड़ी मात्रा में धन का निवेश वैध व्यवसायों में कर दिया था. आईएस का मनी मैनेजमेंट इतना अच्छा है कि वो पूरी दुनिया में बड़ी आसानी से पैसे इधर-उधर करता है और एजेंसियों को इसकी भनक तक नहीं लग पाती है.

  • बीेजेपी-जेडीयू

    विचार | राजनीति

    भाजपा और जेडीयू के बीच चल रहे संघर्ष में ताजा रुझान क्या हैं?

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    गूगल लोगो

    समाचार | अख़बार

    गूगल द्वारा उपभोक्ताओं की बातचीत सुनने की बात स्वीकार किए जाने सहित आज के अखबारों की सुर्खियां

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    इंडिगो विमान

    विचार | व्यापार

    इंडिगो एयरलाइन के प्रमोटरों के बीच आखिर किस बात का झगड़ा है?

    ब्यूरो | 13 जुलाई 2019

    एचडी कुमारस्वामी

    समाचार | बुलेटिन

    कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी के विश्वासमत साबित करने के दावे सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 12 जुलाई 2019