नरेंद्र मोदी, ममता बनर्जी, राहुल गांधी, मायावती, नवीन पटनायक

विचार और रिपोर्ट | राजनीति

23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने पर किन पांच तरीकों से नई सरकार बन सकती है?

एग्जिट पोल्स पर ध्यान ना भी दें तो पांच में से तीन तरीकों से नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनते हुए और चार तरीकों से एनडीए की सरकार वापसी करती हुई दिखती है

ब्यूरो | 20 जून 2019

1

पहली और सबसे मजबूत संभावना यह है कि एग्जिट पोल के आंकड़े एकदम सही ठहरते हैं और एनडीए 300 से ज्यादा सीटें लेकर आती है. ऐसे में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में दोबारा एनडीए की सरकार बनती है.

2

दूसरी संभावना कहती है कि भाजपा अकेले 272 का आंकड़ा पार करती है. एनडीए के सहयोगी दल इसे और मजबूत करते हैं और नरेंद्र मोदी फिर प्रधानमंत्री बनते हैं. ऐसा होना तभी संभव है जब बीजेपी उत्तर प्रदेश में ज्यादा सीटें नहीं गंवाती है और उत्तर-पूर्व, दक्षिण सहित पश्चिम बंगाल, उड़ीसा जैसे राज्यों में भी शानदार प्रदर्शन करती है.

3

तीसरी संभावना यह है कि एनडीए 272 के आंकड़े से जरा ही पीछे रह जाती है और इस कमी को पूरा करने के लिए अलायंस में टीआरएस, वायएसआरसी और बीजेडी जैसे कुछ नए साझेदारों को शामिल किया जाता है. यहां पर भी नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनते दिखते हैं.

4

चौथी और अपेक्षाकृत कमजोर संभावना यह है कि एनडीए बहुमत से बहुत पीछे रह जाती है. एनडीए को कई और बाहरी दलों का समर्थन मिलता है. ऐसा होने पर नरेंद्र मोदी के अलावा राजनाथ सिंह या नितिन गड़करी के भी प्रधानमंत्री बनने के मौके आ सकते हैं.

5

पांचवी संभावना कहती है कि कांग्रेस एक ठीक-ठाक आंकड़े तक पहुंचती है और महागठबंधन और बाकी दल उसका साथ देते हैं. ऐसे में कोई ऐसा चेहरा प्रधानमंत्री बन सकता है जिसके बारे में अभी अंदाजा भी ना लगाया जा सकता हो. लेकिन ऐसा होने की चांसेज सबसे कम हैं.

द प्रिंट की रिपोर्ट पर आधारित

  • पी चिदंबरम

    समाचार | बुलेटिन

    ईडी द्वारा एयर इंडिया घोटाले में पी चिदंबरम को समन भेजे जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 3 घंटे पहले

    मोहन भागवत

    समाचार | अख़बार

    आरक्षण पर मोहन भागवत के अहम बयान सहित आज के अखबारों की पांच बड़ी खबरें

    ब्यूरो | 11 घंटे पहले

    सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान

    विचार और रिपोर्ट | विदेश

    अनुच्छेद-370 को लेकर भारत के फैसले पर इस्लामिक देश चुप क्यों हैं?

    ब्यूरो | 18 अगस्त 2019

    भारतीय सेना के जवान

    समाचार | बुलेटिन

    जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में हिंसा की घटनाओं के बाद फिर सख्ती बढाए जाने सहित आज के बड़े समाचार

    ब्यूरो | 18 अगस्त 2019