demo points

1

अगर वेब पर मौजूद न्यूज़ मीडिया को देखें तो इसमें मोटा–मोटी दो तरह के प्रकाशन नज़र आते हैं: एक वे जो अपनी प्रकृति में पूरी तरह से पारंपरिक हैं, बस प्रकाशित इंटरनेट पर होते हैं. और दूसरे वे जो विशेष तौर पर इंटरनेट के लिए यह सोचकर बनाए गए हैं कि यहां पर गंभीर या पारंपरिक पत्रकारिता के लिए कोई स्थान नहीं है.

2

इंटरनेट पर एक और तरह के प्रकाशन मौजूद हैं – न्यूज़ ऐग्रीगटर. इन्हें प्रकाशनों का प्रकाशन कहा जा सकता है. ये कई समाचार प्रकाशनों की सामग्री को अपनी तरह से सजा–संजोकर हमारे सामने रखते हैं. किसी लाइब्रेरी की तरह न्यूज एग्रीगेटर अपने यहां मौजूद प्रकाशनों को चुन तो सकते हैं लेकिन उनमें मौजूद सामग्री में कोई बदलाव नहीं कर सकते.

  • रियलमी नार्ज़ो 30 5जी मोबाइल फोन

    खरा-खोटा | मोबाइल फोन

    रियलमी नार्ज़ो 30 (5जी): मनोरंजन के लिए मुफीद एक मोबाइल फोन जो जेब पर भी वजन नहीं डालता है

    ब्यूरो | 03 जुलाई 2021

    ह्यूंदेई एल्कजार

    खरा-खोटा | ऑटोमोबाइल

    क्या एल्कजार भारत में ह्यूंदेई को वह कामयाबी दे पाएगी जिसका इंतजार उसे ढाई दशक से है?

    ब्यूरो | 19 जून 2021

    वाट्सएप

    ज्ञानकारी | सोशल मीडिया

    ‘ट्रेसेबिलिटी’ क्या है और इससे वाट्सएप यूजर्स पर क्या फर्क पड़ेगा?

    ब्यूरो | 03 जून 2021

    कोविड 19 की वजह से मरने वाले लोगों की चिताएं

    आंकड़न | कोरोना वायरस

    भारत में अब तक कोरोना वायरस की वजह से कितने लोगों की मृत्यु हुई होगी?

    ब्यूरो | 27 मई 2021