भारतीय क्रिकेट टीम

आंकड़न | खेल

भारत का विश्व टेस्ट चैंपियन बनना तय है अगर… मगर…

न्यूजीलैंड विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गयी है, दूसरी टीम भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में से कोई भी हो सकती है

अभय शर्मा | 05 फरवरी 2021 | फोटो : बीसीसीआई

1

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने टेस्ट क्रिकेट की घटती लोकप्रियता को देखते हुए साल 2019 में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) कराने की घोषणा की थी. इस चैंपियनशिप की अवधि करीब दो साल रखी गयी और इसमें टेस्ट खेलने वाली शीर्ष नौ टीमों को शामिल किया गया. आईसीसी की तरफ से कहा गया था कि अगले दो सालों के दौरान इस प्रतियोगिता में शामिल सभी टीमों को (पहले की तरह ही) एक-दूसरे के साथ टेस्ट सीरीज खेलनी होगी और इस दौरान उनके प्रदर्शन के आधार पर उन्हें पॉइंट्स दिए जाएंगे. अंत में जो दो टीमें शीर्ष पर होंगी, उनके बीच जून 2021 में इंग्लैंड स्थित लॉर्ड्स के मैदान पर फाइनल मुकाबला खेला जाएगा. इस मुकाबले को जीतने वाली टीम ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की विजेता कहलाएगी.

2

न्यूजीलैंड ने फाइनल में कैसे जगह बनाई?

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज एक अगस्त, 2019 को इंग्लैंड में खेली जाने वाली ‘एशेज सीरीज’ से हुआ था. इस समय प्रतियोगिता का आखिरी दौर चल रहा है. लेकिन बीते करीब आठ महीनों से यह अंदाजा लगाना मुश्किल रहा है कि कौन सी दो टीमें इसके फाइनल में पहुंचेंगी. ऐसा इसलिए क्योंकि टेस्ट क्रिकेट की सबसे बेहतर मानी-जाने वाली चार टीमें – भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड – काफी समय से अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं. लेकिन, कुछ रोज पहले अचानक यह खबर आई कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिलने के चलते दक्षिण अफ्रीका का अपना दौरा रद्द कर दिया है. ऑस्ट्रेलिया को वहां तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी थी. यह खबर आने के बाद आईसीसी ने घोषणा की कि न्यूजीलैंड की टीम ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बना ली है. न्यूजीलैंड के पॉइंट्स टेबल में 70 फीसदी अंक हैं, जबकि ऑस्ट्रेलिया के 69.2 फीसदी.

3

भारत कैसे फ़ाइनल में जगह बना सकता है?

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल की शीर्ष चार टीमों में से ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ऐसी हैं जिन्हें अब कोई टेस्ट सीरीज नहीं खेलनी है. इनके अलावा बची दो टीमों – इंग्लैंड और भारत – के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज पांच फरवरी से शुरू हो गयी है. यानी इन दोनों टीमों के पास इस सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करके पॉइंट्स टेबल में अपने अंक बेहतर करने का मौका है. इस समय विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल में भारत के 71.7 फीसदी अंक हैं. आईसीसी के मुताबिक अगर भारत को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनानी है तो उसे इंग्लैंड को कम से कम 2-1 से टेस्ट सीरीज हरानी होगी. यानी चार मैचों की सीरीज में भारत कम से कम दो और इंग्लैंड ज्यादा से ज्यादा एक मैच जीते. इस सीरीज में बुरे प्रदर्शन से भारतीय टीम के पॉइंट्स घट सकते हैं और वह पॉइंट्स टेबल में चौथे नंबर पर भी आ सकती है.

4

इंग्लैंड भी फाइनल में पहुंच सकता है

इस समय विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल में इंग्लैंड चौथे स्थान पर है और उसके महज 68.7 फीसदी अंक हैं. इन आकड़ों के चलते ही फाइनल में पहुंचने की उसकी डगर बेहद मुश्किल हो गयी है. फिर भी वह भारत के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन के जरिये फाइनल में पहुंच सकता है. आईसीसी के मुताबिक अगर इंग्लैंड की टीम भारत से सीरीज के तीन टेस्ट मैच जीत लेती है, यानी अगर वह भारत को 3-1 या 3-0 से शिकस्त देती है तो वह ऑस्ट्रेलिया और भारत दोनों को ही पीछे छोड़कर विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच जाएगी. लेकिन, इंग्लैंड के लिए भारत को उसकी ही सरजमीन पर इतने बड़े अंतर से हरा पाना लगभग नामुमकिन है. आंकड़ों पर नजर डालें तो बीते 29 सालों में इंग्लैंड ने भारत में केवल एक ही टेस्ट सीरीज जीती है और वह भी केवल 2-1 के अंतर से. आंकड़े यह भी बताते हैं कि इंग्लैंड की टीम ने केवल एक ही बार भारत में किसी टेस्ट सीरीज के तीन मैच जीते हैं और यह कारनामा उसने 45 साल पहले किया था.

5

क्या ऑस्ट्रेलिया भी फाइनल में पहुंच सकता है?

बीते महीने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गयी टेस्ट सीरीज से पहले कहा जा रहा था कि अगर भारत मेजबान टीम को 2-1 से हरा देता है तो विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल में ऑस्ट्रेलिया के न्यूजीलैंड के बराबर ही 70 फीसदी अंक हो जाएंगे. तब दक्षिण अफ्रीका दौरा रद्द होने पर भी ऑस्ट्रेलिया के ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की उम्मीद की जा रही थी क्योंकि उसका आरपीडब्ल्यू रेश्यो न्यूजीलैंड से काफी बेहतर है. बीते महीने भारत ने ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज 2-1 के अंतर से ही हरायी, लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया के 70 फीसदी अंक नहीं हुए. दरअसल, इस सीरीज के दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया द्वारा धीमी गति से ओवर किए जाने की वजह से जुर्माने के तौर पर उसके कुछ अंक काट लिए गए थे. इसके चलते विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टेबल में ऑस्ट्रेलिया के महज 69.2 फीसदी अंक ही रह गए. आईसीसी की मानें तो ऑस्ट्रेलिया के पास अभी भी फाइनल में पहुंचने का मौका है. अगर आगामी भारत-इंग्लैंड सीरीज में भारतीय टीम इंग्लैंड को केवल 1-0 से ही हरा पाती है तो ऑस्ट्रेलिया फाइनल के लिए क्वालिफाई कर जाएगा. इसके अलावा अगर इंग्लैंड की टीम भारत को टेस्ट सीरीज में हरा देती है या इसे ड्रॉ कराने में सफल हो जाती है तो भी ऑस्ट्रेलिया विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बना लेगा.

  • डॉक्टर

    विचार-रिपोर्ट | कोविड-19

    ऑक्सीजन और आईसीयू के बाद अगला महासंकट डॉक्टरों और नर्सों की कमी के रूप में सामने आ सकता है

    ब्यूरो | 05 मई 2021

    सीटी स्कैन

    ज्ञानकारी | स्वास्थ्य

    कोरोना संक्रमण होने पर सीटी स्कैन कब करवाना चाहिए?

    ब्यूरो | 04 मई 2021

    इंडिगो विमान

    विचार-रिपोर्ट | अर्थव्यवस्था

    पैसे वाले भारतीय इतनी बड़ी संख्या में देश छोड़कर क्यों जा रहे हैं?

    ब्यूरो | 27 अप्रैल 2021

    कोरोना वायरस

    विचार-रिपोर्ट | स्वास्थ्य

    ट्रिपल म्यूटेशन वाला कोरोना वायरस अपने पिछले स्वरूपों से कितना ज्यादा खतरनाक है?

    ब्यूरो | 22 अप्रैल 2021